इस क्रिकेटर को लगता है कि T-20 के बिना क्रिकेट का बचे रहना मुश्किल है, आपको क्या लगता है?

Updated on 26 Feb, 2018 at 12:12 pm

Advertisement

पिछले कुछ सालों में क्रिकेट का स्वरूप बेहद बदल गया है। क्रिकेट का खेल टेस्ट मैच से शुरू होकर एकदिवसीय तक पहुंचा था और अब खेल के इन दोनों प्रारूपों पर ट्वेन्टी-20 हावी हो रहा है। दुनिया में औसत के हिसाब से अगर देखें तो आपको पता चल जाएगा कि टेस्ट क्रिकेट अब कम खेला जा रहा है, वहीं एकदिवसीय मैचों पर भी संकट के बादल मंडरा रहे हैं। ऐसे में क्रिकेट के विशेषज्ञ अब यह दावा करने लगे हैं कि टेस्ट और एकदिवसीय प्रारूप कुछ ही साल के मेहमान भर हैं। आने वाला युग ट्वेन्टी-20 का है और यही क्रिकेट जगत में अधिक समय तक बरकरार रहेगा। कुछ विशेषज्ञ तो यहां तक दावा करने लगे हैं कि ट्वेन्टी-20 के बिना क्रिकेट का कोई अस्तित्व नहीं हो सकता।

सौरव गांगुली विश्व क्रिकेट के लिए धरोहर से कम नहीं हैं। उन्होंने न केवल जबरदस्त खेल प्रदर्शन किया बल्कि उम्दा कप्तानी कर भारतीय क्रिकेट को नई दिशा दी। वे आजकल क्रिकेट एक्सपर्ट के रूप में अपनी सेवा देते हैं और इस खेल के विकास को लेकर संजीदगी से सोचते भी हैं।

गांगुली का कहना है कि टी-20 के बिना क्रिकेट का अस्तित्व नहीं हो सकता!

 

 

एक कार्यक्रम के सिलसिले में कोयंबटूर पहुंचे पूर्व कप्तान ने कहा कि टी-20 क्रिकेट के लिए बहुत जरूरी है। उनसे क्रिकेटरों के बिना किसी विश्राम के लगातार खेलने के विषय में पूछा गया था। गांगुली ने साफ़ किया कि क्रिकेट के सभी प्रारूप चलने चाहिए, लेकिन टी-20 के बिना क्रिकेट के बारे में सोचा नहीं जा सकता।


Advertisement

 

दक्षिण अफ्रीका में भारतीय टीम के प्रदर्शन को लक्ष्य कर उन्होंने कहा कि अब तक अच्छा दौरा रहा है और हमारे टीम ने एकदिवसीय शृंखला में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि हम शनिवार का मैच (टी-20) भी जीतने में सफल रहेंगे।

 

 

गांगुली ने युवा खिलाड़ियों पर भरोसा जताते हुई कहा कि हमारी टीम में मनीष पांडे, हार्दिक पंड्या और अन्य युवा खिलाड़ी हैं, जिन्हें लगातार अवसर देने की जरूरत है। धोनी एकदिवसीय और टी-20 मैचों में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और उनमें अभी बहुत क्रिकेट बाकी है। चयन की प्रक्रिया पूरी तरह पारदर्शी है और सबको अवसर मिलेगा।

 

सौरव गांगुली ने महिला क्रिकेट टीम की भी सराहना की। उन्होंने कहा कि भारतीय महिला क्रिकेट बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रही है। हरमनप्रीत कौर को लंबा छक्का लगाते हुए देखकर बहुत अच्छा लगता है। हालांकि उन्हें और उम्दा खेलने की आवश्यकता है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement