इस देश के लोगों को नहीं चाहिए मुफ्त की सैलरी

author image
Updated on 6 Jun, 2016 at 9:41 pm

Advertisement

अगर अपने देश की सरकार यह ऐलान कर दे कि नागरिकों को प्रत्येक महीने मुफ्त की सैलरी दी जाएगी, तो आपका क्या रुख होगा? निःसंदेह सभी को इस बात की खुशी होगी।

लेकिन इस दुनिया में एक ऐसा भी देश है, जहां के लोगों ने सरकार की मुफ्त सैलरी की पेशकश को ठुकरा दिया है।

इस देश का नाम है, स्विटजरलैंड।

दुनिया के अमीर देशों में शुमार स्विट्जरलैंड की सरकार ने मुफ्त सैलरी देने को लेकर एक जनमतसंग्रह कराया है, जिसके पक्ष में 23 प्रतिशत, जबकि प्रस्ताव के विरोध में 77 फीसदी लोगों ने मतदान किया।

सरकार की इस योजना का नाम ‘बेसिक इनकम गारंटी’ रखा गया है।

दरअसल, देश में कुछ लोग पिछले डेढ़ साल से मांग कर रहे थे कि सरकार बिना किसी काम किए हुए सभी को न्यूनतम सैलरी दे।

इस मांग को आधार बनाते हुए सरकार ने एक जनमत संग्रह करवाया लेकिन 78 फीसदी लोगों ने इसे ठुकरा दिया। इसी के साथ यह प्रस्ताव खारिज हो गया।

बताया गया है कि स्विटजरलैन्ड में हाल के दिनों में बेरोजगारी बढ़ी है। फैक्ट्रियों में रोबोट आ गए हैं, जिससे लोगों के पास काम नहीं रहा।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement