Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

पोलियो के बावजूद स्वरूप ने छू लिया शिखर, अब शूटिंग वर्ल्ड कप 2017 में भाग लेंगे

Published on 25 October, 2017 at 9:33 am By

स्वरूप महावीर उन्हालकर बचपन में पोलियो के शिकार हो गए थे। यहां तक कि कुछ साल पर पहले तक उनके पास अपना राइफल शूटिंग किट तक नहीं था। इसके बावजूद वह अपने मिशन में लगे रहे और अब उन्हें शूटिंग वर्ल्ड कप 2017 में भाग लेने का मौका मिला है। इस खेल का आयोजन नवंबर 5 से 12 तक थाईलैंड की राजधानी बैंकाक में होने जा रहा है। इसमें देशभर से 11 दिव्यांग शूटर भाग लेने जा रहे हैं।

कोल्हापुर के रहने वाले स्वरूप इस स्पर्धा में भाग लेने वाले महाराष्ट्र से एकमात्र शूटर हैं।

स्वरूप उन्हालकर।


Advertisement

स्वरूप ने इसी साल जुलाई महीने में दिल्ली में आयोजित कुमार सुरिन्दर सिंह प्रतिस्पर्धा में भाग लेकर उल्लेखनीय सफलता हासिल की थी। उन्होंने 609 प्वाइन्ट्स अर्जित किए थे और गोल्ड मेडल हासिल किया था। वर्ष 2012 से वर्ष 2015 के बीच उन्हालकर ने चार अलग-अलग गन फॉर ग्लोरी शूटिंग चैम्पियनशिप आयोजनों में भाग लिया था। उन्होंने तीन बार गोल्ड और 1 बार सिल्वर हासिल किया। पिछले चार महीने से स्वरूप उन्हालकर पुणे के बलेवाडी स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स तथा गन फॉर ग्लोरी शूटिंग अकेडमी में कोच पवन सिंह व एन्टन बेलक से प्रशिक्षण ले रहे हैं।

इंडियन एक्सप्रेस ने स्वरूप उन्हालकर के हवाले से बताया हैः

“अगर मेरा प्रदर्शन इस चैम्पियनशिप में बेहतर रहता है तो फिर मैं मई महीने में वर्ल्ड चैम्पियनशिप में भाग लेने के लिए दक्षिण कोरिया जा सकूंगा। जब से मैनें अंतर्राष्ट्रीय कोच से प्रशिक्षण लेना शुरू किया, तब से मेरे खेल और स्कोर में लगातार सुधार हुआ है। मैंने 615 प्वाइंट्स अर्जित करने का लक्ष्य बना रखा है, जिससे मेडल्स आ सकें।”



स्वरूप वर्ष 2009 से राइफल शूटिंग का प्रशिक्षण ले रहे हैं और वर्ष 2012 के बाद से वह विभिन्न स्पर्धाओं में भाग ले रहे हैं। इस 30 वर्षीय शूटर के पास अपना शूटिंग किट नहीं था, इसके बावजूद हौसले में कमी नहीं थी। वर्ष 2016 में कोल्हापुर के विधायक चंद्रकान्त पाटिल उनके प्रायोजक बने और शूटिंग किट उपलब्ध कराया। इसकी कीमत करीब 3 लाख रुपए थी।

बचपन से पोलियोग्रस्त उन्हालकर को अपना शूटिंग किट पिछले साल ही मिला है।

स्वरूप उन्हालकर कहते हैंः

“पहले मैं कोल्हापुर के स्पोर्ट्स अकेडमी में जिन राइफल्स का उपयोग करता था वे 10 से 15 साल पुराने होते थे। कुछ साल पहले तक राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धाओं में भाग लेने के लिए मेरे पास इक्विपमेन्ट्स नहीं होते थे।”


Advertisement

स्वरूप उन्हालकर अमेरिकी राइफिल शूटिंग वर्ल्ड कप 2014 में भाग लेने के अलावा अन्य कई स्पर्धाओं में भाग ले चुके हैं। इसी साल फरबरी महीने में उन्होंने संयुक्त अरब अमीरात में आयोजित वर्ल्ड शूटिंग पारा स्पोर्ट वर्ल्ड कप में भाग लिया था।

Advertisement

नई कहानियां

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!


जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका

जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका


प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें

प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें


ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं

ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं


Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं

Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Sports

नेट पर पॉप्युलर