Advertisement

इस्लामिक स्टेट के स्टाइल में खंडित कर दी स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा

2:30 pm 31 Oct, 2017

Advertisement

उत्तर प्रदेश के भदोही में स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा को खंडित कर दिए जाने की खबर है। नईबाजार रोड स्थित स्वामी विवेकानंद चौराहा पर स्थापित स्वामी जी की प्रतिमा को पिछले सप्ताह कुछ शरारती तत्वों ने तोड़ दिया।

चौंकाने वाली बात यह है कि इस प्रतिमा को कुख्ताय आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के स्टाइल में खंडित किया गया है। आतंक का राज कायम करने के दौरान इस्लामिक स्टेट ने अपने कई कैदियों की गला काटकर हत्या कर दी थी। जेम्स फॉली, स्टीवन सॉललॉफ तथा डेविड हैन्स की हत्या लाइव विडियो के जरिए दुनिया के सामने आई थी।

स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा को कुछ इसी तरह से खंडित किया गया है। इस प्रतिमा का सिर धड़ से अलग कर दिया गया है।

इस घटना के बाद स्थानीय लोगों में आक्रोश है। प्रदर्शन के लिए लोग इकट्ठा हुए और जौनपुर-मीरजापुर मार्ग जाम कर दिया।

स्थानीय लोगों ने इस स्थान पर एक नई प्रतिमा स्थापित करने की मांग की है तथा इस घटना के लिए जिम्मेदार अपराधियों को अविलंब गिरफ्तार करने के लिए कहा है।

हालांकि, एक रिपोर्ट में बताया गया है कि पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। वह एक नाबालिग है।


Advertisement

विश्व हिन्दू फाउंडेशन के जिला अध्यक्ष प्रमोद मिश्र ने इस घटना की कड़ी निन्दा की है साथ ही इसे देश का अपमान बताया है। वहीं, जिला उपाध्यक्ष राम भरोसे गौतम का कहना है कि अगर इस तरह की घटना दोहरायी जाती है तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

इस बीच, सोशल मीडिया पर भी इस घटना का विरोध जारी है।

इससे पहले मिर्जापुर में इसी तरह की एक घटना में असमाजिक तत्वों ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की प्रतिमा के साथ तोड़फोड़ की थी। वहीं, कोलकाता के नजदीक नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा पर कालिख पोतने की घटना सामने आई थी।

स्वामी विवेकानंद या नेताजी सुभाष चंद्र बोस का कद धर्म, प्रान्त, जाति या राजनीतिक से ऊपर उठकर है। उनकी प्रतिमाओं के साथ इस तरह की छेड़छाड़ अक्षम्य है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement