Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

इस बिजनेसमैन ने निभाया एक पिता का फर्ज, 236 अनाथ बेटियों की कराई शादी

Updated on 28 December, 2016 at 11:37 am By

कभी-कभी हमें लगता है कि ये दुनिया कितनी मतलबी है, बस अपने भले के बारे में ही सोचती है। लेकिन अभी भी कई ऐसे लोग हैं जो अपने नेक कार्यों से समाज में सकारात्मक प्रभाव छोड़ रहे हैं। इसी कड़ी में गुजरात के सूरत के व्यापारी महेश सवाणी ने जो मिसाल पेश की है वो समाज के लिए कई मायनों में प्रेरक है।

महेश सवाणी ने 236 अनाथ लड़कियों की शादी की जिम्मेदारी लेकर, एक पिता का फर्ज निभाते हुए, एक साथ 236 अनाथ लड़कियों की पूरे रस्मों रिवाज के साथ शादी कराई है। साथ ही उनके बेटे और भतीजे की शादी भी इसी सामूहिक विवाह पंडाल में हुई।

आजकल जहां कुछ लोग धर्म के नाम पर लोगों की एकता को तोड़ने का काम करते हैं, उस बीच इस व्यापारी ने धर्म-जाति से परे हटकर, इन अनाथ बच्चियों का पिता बनकर, एक नेक सोच को समाज के सामने रखा है। इन 236 लड़कियों में 5 लड़कियां मुस्लिम समुदाय से थीं। एक लड़की ईसाई, तो बाकि हिंदू युवतियां थी।

दरअसल, साल 2008 में सवाणी परिवार के ईश्वरभाई सवाणी की दो बेटियों की शादी होने वाली थी लेकिन उससे पहले ईश्वरभाई का निधन हो गया। इस घटना से आहत हुए महेश सवाणी ने समाज की अनाथ बेटियों के पिता की जिम्मेदारी पूरी करने का प्रण लिया।



महेश सवाणी अबतक कुल 708 लड़कियों की शादी करवा चुके हैं। आपको बता दें कि महेश हर साल ऐसी ही अनाथ बेटियों की शादी करवाते हैं।

Advertisement

नई कहानियां

सुहागरात से जुड़ी ये बातें बहुत कम लोग ही जानते हैं

सुहागरात से जुड़ी ये बातें बहुत कम लोग ही जानते हैं


नेहा कक्कड़ के ये बेहतरीन गाने हर मूड को सूट करते हैं

नेहा कक्कड़ के ये बेहतरीन गाने हर मूड को सूट करते हैं


मलिंगा के इस नो बॉल को लेकर ट्विटर पर बवाल, अंपायर से हुई गलती से बड़ी मिस्टेक

मलिंगा के इस नो बॉल को लेकर ट्विटर पर बवाल, अंपायर से हुई गलती से बड़ी मिस्टेक


PUBG पर लगाम लगाने की तैयारी, सिर्फ़ इतने घंटे ही खेल पाएंगे ये गेम!

PUBG पर लगाम लगाने की तैयारी, सिर्फ़ इतने घंटे ही खेल पाएंगे ये गेम!


अश्विन-बटलर विवाद पर राहुल द्रविड़ ने अपना बयान दिया है, क्या आप उनसे सहमत हैं?

अश्विन-बटलर विवाद पर राहुल द्रविड़ ने अपना बयान दिया है, क्या आप उनसे सहमत हैं?


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Culture

नेट पर पॉप्युलर