इस भारतीय ने अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप में जीते दो पदक, लेकिन भारतीयों को इसकी भनक भी नहीं लगी

author image
Updated on 21 Feb, 2018 at 7:36 pm

Advertisement

इसमें कोई संदेह नहीं है कि भारत में कई खेल प्रतिभाएं हैं। लेकिन क्रिकेट, फ़ुटबॉल, बास्केटबॉल, टेनिस, हॉकी, तैराकी, एथलेटिक्स जैसे सभी प्रमुख खेलों में भाग लेने के बावजूद यहां का अनौपचारिक ‘राष्ट्रीय खेल’ क्रिकेट ही रहा है। ऐसा हम क्यों कह रहे वो आप अच्छे से जानते हैं। जितनी तवज्जों हमारे देश में क्रिकेट को दी जाती है, उतनी शायद ही किसी और खेल को मिलती है।

हमारे देश में कई ऐसे प्रतिभावान खिलाड़ी हैं, जिन्हें अगर सही दिशा और मदद मिले तो वह अंतर्राष्ट्रीय मंच में भारत का नाम रौशन करने का दमखम रखते हैं। हाल ही में, एक फेसबुक यूजर ने सुधीर नाम के बॉडी बिल्डर की एक विडियो पोस्ट की। इस विडियो में आंध्र प्रदेश के रहने वाले बॉडी बिल्डर सुधीर 2018 में लुधियाना में आयोजित एक अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप में दो पदक जीतने के बाद अपनी ख़ुशी जाहिर करते हुए नजर आ रहे हैं। साथ में उनकी पत्नी की ख़ुशी के आंसू भी रुकने का नाम नहीं ले रहे।

 


Advertisement

सुधीर ने जो ये मुकाम हासिल किया है वो अपने दम पर किया है। अब आप सोचिए अगर उन्हें और जरूरी सुविधाएं दी जाए तो वो क्या कुछ नहीं कर सकते।

 



सुधीर की इस उपलब्धि पर सोशल मीडिया यूज़र्स ने भी उन्हें बधाई देते हुए कमेंट किए:

 

 

ये बात किसी से छुपी नहीं है कि क्रिकेट ने बाकी खेलों को लाइमलाइट से दूर रखा है। अगर कोई एथलीट क्रिकेट के अलावा किसी अन्य खेल में स्वर्ण पदक जीतता भी है तो वह क्रिकेटर्स की तुलना में लोकप्रिय नहीं होता। भारत में क्रिकेटरों को बहुत पैसा और अटेंशन मिलता है। लेकिन यहां मुख्य बात ये है कि हमारे एथलीटों, शूटर्स, बॉडीबिल्डर्स, और अन्य दूसरे खेल के खिलाड़ियों को भी देश की जनता, मीडिया और स्पोंसर्स के साथ की जरूरत है, ताकि वे अपना सर्वोत्तम प्रदर्शन कर सकें और अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत का नाम रौशन कर सकें।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement