भारत के बहिष्कार के बावजूद OBOR सम्मेलन में पहुंचने वाले सुधीन्द्र कुलकर्णी की ऋषि कपूर ने क्यों खबर ली ?

author image
Updated on 16 May, 2017 at 10:16 pm

Advertisement

भारत ने चीन की महात्वाकांक्षी परियोजना वन बेल्ट व वन रोड (OBOR) सम्मेलन का आधिकारिक रूप से बहिष्कार किया है। भारत ने चीन के समक्ष यह साफ किया है कि कि OBOR के तहत बनने जा रहे चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (CPEC) से उसकी संप्रभुता और अखंडता को खतरा पहुंचेगा। CPEC करीब 50 अरब डॉलर की परियोजना है और सोमवार को सम्पन्न हुए इस दो दिवसीय सम्मेलन में 29 देशों के नेताओं ने भाग लिया था।

भारत ने संप्रभुता और सुरक्षा का हवाला देते हुए भले ही इस सम्मेलन का बहिष्कार किया है, लेकिन देश में बुद्धिजीवियों का एक ऐसा समूह मौजूद है, जिसने इस निर्णय को मोदी सरकार की बिफलता बताया है। ऐसे ही बुद्धिजीवियों में शुमार भारत के सुधीन्द्र कुलकर्णी OBOR सम्मेलन में भाग लेने के लिए चीन की राजधानी बीजिंग पहुंचे।

सुधीन्द्र कुलकर्णी का कहना है कि भारत ने इस मसले पर सेल्फ गोल कर लिया है। यह लेख पढ़ने से साफ हो जाता है कि सुधीन्द्र कुलकर्णी चीन के सरकारी अखबार की भाषा बोल रहे हैं। खास बात यह है कि सुधीन्द्र कुलकर्णी पाकिस्तान की तमाम कारस्तानियों के बावजूद उससे बातचीत के हिमायती भी रहे हैं।

भारत के OBOR सम्मेलन में भाग नहीं लेने पर चीन की सरकारी मीडिया ने मोदी सरकार की आलोचना की है। चीन का कहना है कि हाई प्रोफाइल ‘बेल्ट एंड रोड’ पहल में शामिल होने से भारत का इनकार खेदजनक है लेकिन नई दिल्ली के बहिष्कार से ढांचागत विकास के लिए उसके पड़ोसी देशों के बीच सहयोग कतई प्रभावित नहीं होगा।



सुधीन्द्र के इस बैठक में हिस्सा लेने पर बॉलीवुड अभिनेता ऋषि कपूर ने उनकी टि्वटर पर कड़ी आलोचना की है।

ऋषि कपूर का यह ट्वीट पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री ख़ुर्शीद महमूद कसूरी की किताब के विमोचन कार्यक्रम के संदर्भ में है, जब सुधीन्द्र कुलकर्णी पर शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने स्याही फेंकी थी। ख़ुर्शीद महमूद कसूरी का भारत में बड़े पैमाने पर विरोध हो रहा था, उस वक्त सुधीन्द्र मुंबई में उनकी मेजबानी कर रहे थे।

ऋषि कपूर के ट्वीट पर वरिष्ठ पत्रकार शेखर गुप्ता ने सवाल उठाए तो बॉलीवुड अभिनेता ने उन्हें बेहद चुटीले अंदाज में जवाब दिया।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement