यह हैं भारतीय वायुसेना की कमान संभालने वाले पहले प्रमुख सुब्रतो मुखर्जी

author image
2:29 pm 5 Mar, 2017

Advertisement

आज हम जिस महान शख्सियत का जिक्र करने जा रहे हैं, उन्हें भारतीय वायुसेना का जनक भी कहा जाता है। साल 1911 में 5 मार्च को जन्मे भारतीय वायुसेना के पहले प्रमुख सुब्रतो मुखर्जी एक ऐसी शख्सियत रही, जिनके जीवन की गाथा दृढ़ संकल्प, समर्पण और राष्ट्र सेवा से परिपूर्ण है।

SubrotoMukherjee

सुब्रतो मुखर्जी 8 अक्टूबर 1932 को वायुसेना में बतौर पायलट कमीशंड हुए।

भारत की आजादी के बाद सुब्रतो मुखर्जी को 1 अप्रैल 1954 को भारतीय वायुसेना का  कमांडर-इन-चीफ नियुक्त किया गया।

subroto

सुब्रतो मुखर्जी बाएं ओर frontline


Advertisement

सुब्रतो मुखर्जी ने अपने करियर में कई बुलंदियों को छुआ है। वह फ्लाइट स्कवॉड्रन, स्टेशन और सर्विस की कमान संभालने वाले पहले भारतीय रहे हैं।

अपने साथियों के बीच वह बेहद लोकप्रिय थे। उनकी परेशानियों को समझना, उनका समाधान निकालना, सुब्रतो मुखर्जी के मिलनसार व्यक्तित्व के कारण उन्हें सब पसंद करते थे।



subroto

बाई ओर बैठे हुए एयर मार्शल सुब्रतो मुखर्जी frontline

मुखर्जी एक खेल प्रेमी भी रहे। उन्हें फुटबॉल से खास लगाव था। आपको बता दे कि  देश में इंटर स्कूल फुटबॉल टूर्नामेंट सुब्रतो कप उन्ही के नाम पर खेला जाता है।

उनका निधन 8 नवम्बर 1960 को टोक्यो में हुआ। वह टोक्यो में अपने एक दोस्त के साथ रेस्टोरेंट में खाना खाने गए थे। खाने का एक टुकड़ा उनकी सांस की नली में फंस गया और दम घुटने की वजह से उनकी मौत गई गई। अगले दिन उनके पार्थिव शरीर को नई दिल्ली लाया गया, जहां पूरे सम्मान के साथ उन्हें अंतिम विदाई दी गई।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement