‘बॉर्डर’ के असली हीरो सूबेदार रत्न सिंह का देहांत, पाकिस्तान को चटाई थी धूल

author image
Updated on 2 Feb, 2017 at 4:43 pm

Advertisement

1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में नायक रहे सरदार सूबेदार रत्न सिंह का बुधवार को निधन हो गया। वह 92 साल के थे। उनके निधन की खबर सुनकर समस्त धार्मिक,राजनीतिक और सामाजिक संगठन के नेताओं के साथ-साथ बॉलीवुड जगत भी शोकाकुल है।

वर्ष 1971 के युद्ध में पाकिस्तान को भारत के हाथों करारी शिकस्त मिली थी। तब सूबेदार रत्न सिंह राजस्थान में लोंगोंवाल पोस्ट पर तैनात थे। हालात ऐसे थे कि पाकिस्तानी सेना के 45 टैंकों और बटालियन के 2 हजार से अधिक सैनिकों का सामना सूबेदार रत्न सिंह और 80 भारतीय सैनिकों के साथ था। इस युद्ध में भारतीय सैनिकों ने अद्वितीय साहस का परिचय देते हुए पाकिस्तानी सैनिकों को घुटने टेकने पर विवश कर दिया था।

बाद में सूबेदार रत्न सिंह और उनके साथी बहादुर सैनिकों के साहस को दर्शाती बॉर्डर फिल्म का निर्माण किया गया था। फिल्म अभिनेता पुनीत इस्सर ने सूबेदार रत्न सिंह का किरदार बखूबी निभाया था।

dainiksaveratimes

dainiksaveratimes


Advertisement

इस युद्ध में सूबेदार रत्न सिंह और अन्य भारतीय सैनिकों की अगुवाई ब्रिगेडियर कुलदीप सिंह ने किया था। सैनिकों ने पाकिस्तान सेना का बड़ी बहादुरी से मुकाबला किया था। इसी बहादुरी की वजह से तत्कालीन राष्ट्रपति वी.वी गिरी ने सूबेदार रत्न सिंह को वीर चक्र से सम्मानित किया था।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement