इस पोस्टर में हनुमान जी गुस्से में नहीं हैं, बल्कि मामला कुछ और है

Updated on 10 Apr, 2018 at 9:12 pm

Advertisement

हनुमान जी की की यह तस्वीर इन दिनों आम है। शहरों से लेकर ग्रामीण इलाकों तक में वाहनों पर ये पोस्टर आपको चिपके मिल जाएंगे। लोगों के बीच हनुमान जी के इस नए अवतार को काफी पसंद किया जा रहा है। सिर्फ वाहन नहीं, आलम यह है कि व्हाट्सएप की प्रोफाइल पिक्चर से लेकर कार के शीशों और टी-शर्ट तक में एंग्री हनुमान छाए हुए हैं। अमेज़न जैसी ई-रिटेलर वेबसाइट पर भी हनुमान जी के इस गुस्से वाले स्टीकर धड़ल्ले से बिक रहे हैं।

 

 

एंग्री हनुमान के इस स्टीकर को देखकर आपके मन में भी इसे लेकर कुछ सवाल तो जरूर उठे होंगे। आमतौर पर हनुमान जी अपनी तस्वीरों में बेहद शांत व सौम्य ही नजर आते हैं। ऐसे में हनुमान की गुस्से वाली तस्वीर कुछ हटकर नजर आती है। शायद यही वजह है कि लोग इसे इतना अधिक पसंद कर रहे हैं।

 

इसे बनाने वाले शख्स का नाम करण आचार्य है। 25 वर्षीय आचार्य केरल के कासरगोड़ जिले में स्थित कुंबले गांव में रहते हैं।

यह तस्वीर आज से करीब 3 साल पहले बनाई गई थी। पेशे से ग्राफिक डिज़ाइनर करण ने कभी यह नहीं सोचा होगा कि उनके द्वारा बनाया गया बजरंगबली का यह वेक्टर स्टाइल पोस्टर एक दिन पूरे भारत में लोकप्रिय हो जाएगा।

 

 


Advertisement

करण के मुताबिक़ साल 2015 में गणेश चतुर्थी के समय गांव के यूथ क्लब के युवाओं ने उनसे अपने झंडे में लगाने हेतु एक नया पोस्टर बनाने का आग्रह किया था। शुरुआत में मना करने के बाद युवाओं के जिद करने पर त्यौहार से महज एक दिन पहले रात करीब 12 बजे उन्होंने भगवान हनुमान का यह पोस्टर तैयार किया था।

 

 

अगले दिन जब झंडे में इस पोस्टर का इस्तेमाल किया गया तो इसे लोगों ने काफी पसंद किया। देखते ही देखते यह एंग्री हनुमान पोस्टर पूरे दक्षिण भारत में धूम मचाने लगा।

 

 

साल 2017 में बैंगलोर में इस पोस्टर ने अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज कराई। हालात ऐसे थे कि शहर के कोने-कोने से लेकर गाड़ियों तक में इस पोस्टर के स्टीकर चिपके हुए नजर आने लगे। इसके बाद इस खास पोस्टर की लोकप्रियता उत्तर भारत में भी बढ़ती चली गई।

करण का कहना है कि कुछ नया करने की धुन में उसने पोस्टर के लिए केसरिया एवं काले रंग का मिश्रण चुना और भगवान हनुमान को थोड़ा एटीट्यूड में दिखाने की कोशिश की। करण अपने कई साक्षात्कार में यह बात कह चुके हैं कि पोस्टर में भगवान नाराज नहीं हैं, बल्कि उन्हें थोड़े एटीट्यूड में दिखाया गया है।

अगली बार जब भी आप इस पोस्टर को देखें तो याद रखें कि हनुमान गुस्से में नहीं, बल्कि एटीट्यूड में हैं।

इस दमदार एवं लोकप्रिय पोस्टर के लिए करण आचार्य का शुक्रिया, आखिर उन्हीं की वजह से हमें अपने प्रिय हनुमान जी की एक नई छवि भी मिल गई है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement