अंतरिक्ष से भी नज़र आती है ‘स्‍टैच्‍यू ऑफ़ यूनिटी’, अमेरिका ने जारी की पहली तस्वीर

Updated on 19 Nov, 2018 at 3:12 pm

Advertisement

भारत के लौह पुरुष सरदार पटेल की प्रतिमा स्‍टैच्‍यू ऑफ़ यूनिटी मौजूदा समय में दुनिया की सबसे बड़ी प्रतिमा है, जिसे अब स्पेस से भी देखा जा सकता है। अमेरिका के कमर्शियल सैटेलाइट नेटवर्क ने बीते शुक्रवार को एक ट्टीट किया, जिसमें उन्होनें 400 किमी की ऊंचाई से इस प्रतिमा की एक तस्वीर शेयर की। सैटेलाइट से ली गई ये तस्वीर इन दिनों सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रही है। अमेरिका के Oblique Skysat ने स्टैच्यू ऑफ़ यूनिटी की बेहद साफ़ तस्वीर कैमरे में कैद की।

 

 


Advertisement

31 अक्टूबर को गुजरात के केवड़िया में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरदार वल्लभ भाई पटेल की मूर्ती का अनावरण किया। ये समारोह सरदार पटेल की 31 अक्टूबर को उनकी जयंती के मौके पर आयोजित हुआ। 597 फुट ऊंची स्‍टैच्‍यू ऑफ़ यूनिटी अमेरिका स्थित स्‍टैच्‍यू ऑफ़ लिबर्टी से दोगुनी है, जबकि चीन के स्प्रिंट टैंपल में स्थित बुद्धा की मूर्ती से इसकी ऊंचाई 177 फुट ज़्यादा है। मूर्ती को बनाने में करीब 2989 हज़ार करोड़ रुपये का खर्च आया है। इस मूर्ति को नोएडा के पद्म भूषण मूर्तिकार राम सुतार ने डिज़ाइन किया है।

 



 

ये गुजरात में नर्मदा नदी पर सरदार सरोवर बांध से 3.5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस मूर्ती के लोकार्पण के बाद जहां कुछ लोग पीएम मोदी के इस कदम की तारीफ़ करते नज़र आए थे तो वहीं मूर्ति पर हुए खर्च और इसको बनाने के पीछे छिपे मकसद को लेकर लोगों ने कई सवाल भी खड़े किए थे। ऐसा पहली बार हुआ है जब भारत में निर्मित किसी प्रतिमा को स्पेस से भी देखा जा सकता है। ये वाकई हमारे लिए गर्व की बात है।

 

कुछ ऐसी नज़र आती है स्टैच्यू ऑफ यूनिटी- This is How The Statue Of Looks From The Space

apnabihar. /a>


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement