सऊदी अरब में 10 हजार से अधिक भारतीय फंसे, कई दिनों से नहीं मिल रहा है खाना

author image
Updated on 30 Jul, 2016 at 11:36 pm

Advertisement

सऊदी अरब में करीब 10 हजार से अधिक भारतीय कामगारों की नौकरी चली गई है। उन्हें कई महीनों से वेतन नहीं मिला है। हालात इतने बदतर हैं कि उन्हें अस्थायी कैम्पों में रहना पड़ रहा है। यहां तक कि इन भारतीय कामगारों को पिछले कई दिनों से खाना तक नहीं मिल रहा है।

हालात की गंभीरता को देखते हुए भारत सरकार ने विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह को सऊदी अरब रवाना किया है।

इस बात की जानकारी देते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सऊदी अरब में भारतीय दूतावास को वहां फंसे कामगारों के लिए भोजन का इन्तजाम करने के लिए कहा है।

विदेश मंत्री की यह प्रतिक्रिया एक व्यक्ति के ट्वीट के बाद आई, जिसमें उसने कहा था कि करीब आठ सौ भारतीय तीन दिनों से जेद्दा में भूख-प्यास से तड़प रहे हैं।


Advertisement

बाद में सुषमा ने ट्वीट कर बताया कि सऊदी में सिर्फ आठ सौ नहीं, बल्कि 10 हजार से अधिक भारतीय कामगार प्रभावित हुए हैं। दूतावास को सभी भारतीय कामगारों की हरसंभव मदद करने के लिए कहा गया है।

उन्होंने भरोसा दिया कि बेरोजगार हो गए किसी भी भारतीय कामगार को वहां कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी। इस मामले में वह खुद लगातार निगरानी रखेंगी।

सुषमा ने जानकारी दी है कि विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर कुवैत और सऊदी अधिकारियों के समक्ष यह मुद्दा उठाएंगे।

गौरतलब है कि सऊदी अरब और कुवैत में बड़ी संख्या में भारतीयों ने नौकरियां गंवा दी है और उनकी नियोक्ता कंपनियां उन्हें बकाया वेतन भी नहीं दे रही हैं। हालत बदतर है।

सऊदी अरब और कुवैत में कई फैक्ट्रियां बंद हो गई हैं। पिछले कुछ समय से अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत में आई गिरावट से सऊदी अरब सहित दूसरे खाड़ी देशों को खासा नुकसान उठाना पड़ा है। इसका असर वहां के उद्योगों पर पड़ रहा है।

इससे पहले लीबिया, यमन और दक्षिणी सूडान में फंसे भारतीयों को मदद पहुंचाने के लिए विदेश मंत्रालय ने सक्रिय कदम उठाए हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement