हवाई सफर के बारे में चौंकाने वाले 9 तथ्य; जानकर दंग रह जाएंगे आप

author image
Updated on 28 Jan, 2016 at 10:05 pm

Advertisement

आप में से कई हवाई जहाज में उड़ते होंगे। लेकिन ‘उड़न खटोले’ के बारे में कुछ बातें ऐसी हैं, जिनके बारे में आपको नहीं पता होगा। क्या आप जानते हैं कि प्लेन उड़ाने के लिए पायलट की जरूरत नहीं होती है? प्लेन खुद को उड़ा सकते हैं और पायलट से ज्यादा आसान तरीके से खुद को लैण्ड भी कर सकते हैं। हवाई जहाज के बारे में कुछ इसी तरह के चौंकाने वाले तथ्य कुछ इस तरह हैं।

1. एरोप्लेन के खतरे के बारे में अक्सर हम कल्पना करते हैं कि अगर हवा में ही प्लेन बंद जाए तो? सोचते हैं कि अगर हवा में ही खिड़कियां खुल गईं तो? लेकिन क्या आपको पता है एरोप्लेन के इतिहास में सबसे घातक दुर्घटनाएं जमीन पर ही हुई हैं। हवाई जहाज को सबसे अधिक खतरा उड़ान भरने और लैण्ड करने के दौरान ही होता है।

Airplane1

2. लगातार व्यस्तताओं की वजह से एयर होस्टेस या क्रू के अन्य सदस्यों को अधिक समय नहीं मिलता कि वे सीटों, ट्रे-टेबल, सीट पॉकेट और सेफ्टी बुकलेट की ढंग से सफाई कर सकें, इसलिए इनमें सबसे ज्यादा कीटाणु होते हैं। तो अगली बार जब आप प्लेन की यात्रा करें, तो बेहतर होगा कि आप इन चीजों को हाथ न लगाएं।

Airplane2

3. आपको जानकर हैरानी होगी कि एरोप्लेन को पायलट की आवश्यकता ही नहीं होती। प्लेन खुद को उड़ाने में और सुरक्षित तरीके से लैण्ड करने में सक्षम हैं। लेकिन शायद यात्री पायलट के साथ अधिक सुरक्षित महसूस करते हैं।

Airplane3


Advertisement

4. हम जानते हैं कि लगभग सभी प्लेन दुर्घटनाओं में छोटा ब्लैक बॉक्स जरूर बच जाता है। तो क्यों न पूरा प्लेन ही इस जादुई धातु से बना दिया जाए। दरअसल, ब्लैक बॉक्स स्टील का बना होता है और पूरी प्लेन अगर स्टील की बना दी जाएगी, तो प्लेन का वजन बहुत अधिक हो जाएगा और यह नहीं उड़ पाएगी।

Airplane4

5. हवा में कार्बन डाई ऑक्साइड के बढ़ने की वजह से अचानक मौसम में बदलाव आ जाता है जो एरोप्लेन के दुर्घटनाग्रत होने का एक बड़ा कारण बनता है। अगर आप हवा में सुरक्षित उड़ना चाहते हैं तो अनावश्यक ईंधन का उपयोग बंद कीजिए।

Airplane5



6. आपको पता है कि एरोप्लेन पर सर्व किया जाने वाला पायलट नहीं खाते हैं? इसका कारण यह है कि इसे खाने से वह बीमार पड़ सकते हैं। जी हां, अगली बार प्लेन में संभल कर ही खाना खाएं।

Airplane6

7. यह यात्रियों को नहीं पता होता कि जो ऑक्सीजन मास्क एरोप्लेन में दिए जाते हैं, वह केवल 15 मिनट ही आपको ऑक्सीजन दे पाने में सक्षम हैं।

Airplane7

8. एरोप्लेन की खिड़कियों के किनारे गोल होते हैं, क्योंकि गोल किनारे बाहरी हवा का विरोध नहीं करते और प्लेन पर अनावश्यक दबाव नहीं पड़ता। पहले खिड़कियां वर्गाकार होती थीं, लेकिन एक बार इन्हीं वर्गाकार खिड़कियों की वजह से एक प्लेन दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। जिसके बाद इसकी खिड़कियों के किनारों को गोल कर दिया गया।

Airplane8

9. मनोरंजन के लिए जो हेडफोन्स आपको दिए जाते हैं, वे प्लास्टिक की थैली में तो आते हैं लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि हेडफोन साफ हैं।

Airplane9

फोटो साभारः ट्रैवल वर्स्ड


Advertisement

Tags

आपके विचार


  • Advertisement