वे गोलियां बरसा रहे हैं, हम बस चला रहे हैं

author image
Updated on 19 Sep, 2016 at 3:53 pm

Advertisement

रविवार को कश्मीर के उड़ी में सेना कैम्प पर हुए भीषण हमले में 18 जवानों को खोने के बावजूद भारत की तरफ से श्रीनगर और मुजफ्फराबाद के बीच शांति बस सेवा का परिचालन जारी है।

भारी सुरक्षा के बीच सोमवार को ‘कारवां-ए-अमन’ नाम से मशहूर इस बस सेवा का संचालन किया गया। इस बस सेवा का परिचालन विभाजित कश्मीर के दोनों हिस्सों के परिवारों व रिश्तेदारों को आपस में मिलवाने के लिए किया जाता है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक, राज्य सड़क परिवहन निगम (एसआरटीसी) द्वारा संचालित बस एकमात्र नागरिक परिवहन है, जिसे रविवार को हुए उड़ी हमले के बाद पाक अधिकृत कश्मीर जाने की अनुमति दी गई।


Advertisement

इस बीच, उड़ी में शहीद हुए सैनिकों को श्रद्धांजलि दी गई।

गौरतलब है कि ऊड़ी में पाकिस्तान प्रायोजित जैश-ए-मोहम्मह के आतंकवादियों के फिदायीन हमले में भारत ने अपने 17 जवान गंवा दिए। इस घटना में 30 अन्य जवानों के घायल होने की खबर है।

इस हमले में सबूत पाकिस्तान का हाथ होने की तरफ इशारा कर रहे हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement