Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

मीडिया ने श्रीदेवी की मौत की रिपोर्टिंग नहीं की, बल्कि इसका तमाशा बना दिया

Published on 28 February, 2018 at 10:24 am By

भारत में लंबे समय से टीवी पत्रकारिता के स्तर पर सवालिया निशान लगते रहे हैं। मीडिया विशेषज्ञ इस बात से लगातार चिंतित हैं कि समाचार टीवी चैनल्स पत्रकारिता से इतर कुछ और ही कर रहे हैं। टीआरपी की होड़ में पगलाए समाचार चैनल्स नैतिकता की बारीक रेखा को लांघते रहे हैं। हालांकि, अब अति हो रही है। भारत की मुख्य धारा की टीवी मीडिया ने अभिनेत्री श्रीदेवी की मौत की रिपोर्टिंग नहीं की है, बल्कि इसे तमाशा बना दिया।

श्रीदेवी की मौत दुबई में बीते रविवार को हुई। यह सभी को स्तब्ध करने वाली खबर थी।


Advertisement

 

इस खबर को टीवी मीडिया ने जिस शर्मनाक तरीके से दर्शकों तक लगातार पहुंचाया है, वह श्रीदेवी की मौत से भी अधिक स्तब्धकारी है।

टीवी की रिपोर्टिंग बेहद काल्पनिक तरीके से की जा रही है।

साफ जाहिर है कि समाचार चैनल्स पत्रकारिता नहीं कर रहे हैं, बल्कि श्रीदेवी की मौत का विश्लेषण एक जासूस के नजरिए से कर रहे हैं।


Advertisement

प्रोड्यूसर्स और एंकर्स नीति नियंता की भूमिका में दिख रहे हैं। वे ऑन द स्पॉट फैसला दे रहे हैं। वे श्रीदेवी से जुड़े तमाम लोगों को कठघरे में खड़ा कर रहे हैं।

एबीपी न्यूज, आज तक और इंडिया टीवी जैसे बड़े चैनल्स की देखादेखी क्षेत्रीय चैनल्स भी अपनी कल्पनाशीलता को उभारने में लगे रहे। दक्षिण भारत के इस चैनल के पत्रकार ने एक कदम आगे बढ़ते हुए बाथटब में जाकर दर्शकों को यह बताने की कोशिश की कि श्रीदेवी की मौत आखिर कैसे हुई होगी।

समाचार चैनल्स की रिपोर्टिंग को देखकर एक सामान्य सा दर्शक भी यह सोचने को मजबूर है कि टीवी चैनल्स को इतना गिरने की जरूरत क्या है?


Advertisement

श्रीदेवी की मौत की ख़बर पर शर्मनाक रिपोर्टिंग इस बात का द्योतक है कि भारत में टीवी मीडिया वाले ही अपनी मौत का मर्सिया पढ़ रहे हैं। साफ शब्दों में कहें तो भारत में मीडिया की मौत हो चुकी है।

Advertisement

नई कहानियां

अमीरों के ये बचत के तरीके अपनाकर आप भी बन सकते हैं अमीर

अमीरों के ये बचत के तरीके अपनाकर आप भी बन सकते हैं अमीर


कभी फ़ुटपाथ पर सोता था ये शख्स, आज डिज़ाइन करता है नेताओं के कपड़े

कभी फ़ुटपाथ पर सोता था ये शख्स, आज डिज़ाइन करता है नेताओं के कपड़े


किसी प्रेरणा से कम नहीं है मोटिवेशनल स्पीकर संदीप माहेश्वरी की कहानी

किसी प्रेरणा से कम नहीं है मोटिवेशनल स्पीकर संदीप माहेश्वरी की कहानी


इस फ़िल्ममेकर के साथ काम करने को बेताब हैं तब्बू, कहा अभिनेत्री न सही, असिस्टेंट ही बना लो

इस फ़िल्ममेकर के साथ काम करने को बेताब हैं तब्बू, कहा अभिनेत्री न सही, असिस्टेंट ही बना लो


इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा

इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Entertainment

नेट पर पॉप्युलर