साउथ चाइना सी में घमासान, चीन ने शुरू की फायरिंग

author image
Updated on 22 Aug, 2016 at 3:29 pm

Advertisement

साउथ चाइना सी में चीन द्वारा फायरिंग शुरू किए जाने के बाद तनाव बढ़ गया है। दरअसल, चीन के नौसैनिक फायरिंग एक्सरसाइज में हिस्सा ले रहे हैं। यही वजह है कि इस इलाके में जहाजों की आवाजाही रोक दी गई है।

अभी कुछ दिनों पहले ही वियतनाम ने साउथ चाइना सी के विवादित टापुओं पर अपने रॉकेट लॉन्चर्स को तैनात किया है। कहा जा रहा है कि वियतनाम के ये मिसाइल चीन के रनवेज व मिलिट्री ठिकानों पर हमला में सक्षम हैं।

तनाव मूल रूप से चीन के हैनान प्रान्त और वियतनाम के नॉर्थ कोस्ट के बीच है।

इससे पहले चीन ने यह ऐलान किया था कि उसने जापानी समुद्रर में फाइटर प्लेन्स और नौसेना के जहाज भेजे हैं। अगले महीने में इस इलाके में चीन-रूस के संयुक्त नौसैनिक अभ्यास की योजना है।

इस पर अमेरिका अपनी आपत्ति दर्ज कर चुका है।


Advertisement

इस बीच, चीन ने वियतमान द्वारा यहां मिसाइलों की तैनाती पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा है कि यदि वियतनाम साउथ चाइना सी पर हमला करता है, तो यह उसकी अब तक की सबसे बड़ी भूल होगी। वियतनाम को इतिहास से सबक लेना चाहिए।

गौरतलब है कि वर्ष 1988 में चीन ने वियतनाम के स्प्रैटलिस आइलैंड्स पर कब्जा किया था। इस संघर्ष वियतनाम के 64 सैनिक मारे गए थे।

अमेरिकी मीडिया का कहना है कि विवादित दक्षिण चीन सागर में चीन ने 3 हजार मीटर का रनवे बनाया है, ताकि वह वहां फाइटर जेट उतार सके। वियतनाम का दावा है कि फियरी क्रॉस, सुबी और मिसचीफ रीफ आइलैंड्स उसके अधिकार वाले 21 टापुओं का हिस्सा हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement