20 साल पहले मान ली होती इस शख्स की बात तो आज कोर्ट के चक्कर नहीं लगा रहे होते सलमान

author image
Updated on 6 Apr, 2018 at 3:23 pm

Advertisement

काले हिरण के शिकार मामले में बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान को दोषी करार देते हुए जोधपुर के सेशन कोर्ट ने 5 साल की सजा सुनाई है। साथ ही कोर्ट ने उन पर 10 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है।

 

 

सजा का ऐलान होने के कुछ समय बाद ही सलमान को जोधपुर की जेल में भेज दिया गया। वहीं, सबूतों के अभाव में उनके अन्य साथियों सोनाली बेंद्रे, तब्बू, सैफ अली खान और नीलम को बरी कर दिया गया।

 

 

लेकिन क्या आप जानते हैं अगर 1998 के इस मामले में उस वक्त सलमान ने एक शख्स की बात मान ली होती तो वह आज जेल की सलाखों के अन्दर नहीं होते और न ही उन्हें कोर्ट के चक्कर काटने पड़ते।

 

 

काले हिरण के शिकार की ये घटना 1998 में फिल्म ‘हम साथ-साथ हैं’ की शूटिंग के दौरान हुई थी। सैफ और सलमान ने मौज मस्ती के लिए शिकार करने का प्लान बनाया। इसमें उनका साथ तब्बू, सोनाली और नीलम ने भी दिया। कथित तौर पर वे हिरण का मांस खाना चाहती थीं।

 

रात के अंधेरे में एक स्थानीय शख्स की मदद से ये पांचों  जोधपुर से 30 किलोमीटर दूर कांकाणी गांव के गुरु जंभेश्वर नगर के ढाणी पहुंचे। आरोप है कि वहां इन लोगों ने दो हिरणों का शिकार किया। वहां मौजूद कुछ लोगों की नजर जैसे ही इन पर पड़ी ये पांचों जिप्सी में बैठकर वहां से फरार हो गए।

 

 


Advertisement

1998 में इस मामले में राजस्थान के वन विभाग ने शिकायत की, जिसमें सलमान समेत सात लोगों सैफ अली खान, सोनाली बेंद्रे, नीलम, तब्बू, दुष्यंत सिंह और दिनेश गावरे  को आरोपी बनाया गया। वहीं, चार चश्मदीद के भी नाम दर्ज हुए। सीजेएम कोर्ट ने इस मामले को संज्ञान में लिया और सुनवाई शुरू हुई।

 

 

बस तब से लेकर अब तक यह मामला सलमान भारी पड़ा है। हालांकि, अगर 1998  में ही सलमान ने फिल्म के डायरेक्टर सूरज बड़जात्या की बात मन ली होती तो वह इस मामले में कभी फंसते ही नहीं।

 

दरअसल, सूरज बड़जात्या ने सलमान और अन्य स्टारकास्ट को रोकने की कोशिश की थी, लेकिन किसी ने उनकी एक न सुनी और सब के सब शिकार की ओर निकल पड़े।

 

 

वहीं, जब ये पांचो शिकार करने के इरादे से गए थे तो उस वक्त करिश्मा कपूर जोधपुर में नहीं थी। इस कारण वह इस समूह का हिस्सा नहीं बन सकी।

उधर, फिल्म में तब्बू के पति का किरदार निभाने वाले मोहनीश बहल और नीलम के पति का रोल निभाने वाले  महेश ठाकुर ने सैफ और सलमान की गैंग के साथ शिकार पर जाने से मना कर दिया था। सैफ और सलमान ने इन दोनों को चलने के लिए कहा था लेकिन इन्होने जाने से इनकार कर दिया था। इस तरह यह दो कलाकार इस केस से दूर ही रहे।

 

 

अब जैसा कि सलमान अभी जेल में बंद है, उनकी जमानत पर फैसला कल आना है। जोधपुर जेल के डीआईजी विक्रम सिंह ने कहा है कि फैसले के मद्देनजर जेल में सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजाम किए गए हैं और सलमान खान को जेल में वही खाना दिया जाएगा, जो अन्य कैदियों को दिया जाता है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement