पिता बेचते हैं समोसा, बेटे ने JEE में हासिल की छठी रैंक

author image
Updated on 25 May, 2017 at 9:52 am

Advertisement

हैदराबाद के वी मोहन ने अपनी मेहनत और लगन की बदौलत JEE में छठी रैंक हासिल की है। यही नहीं, इस होनहार छात्र ने आंध्र प्रदेश EAMCET (इंजीनियरिंग, कृषि और मेडिकल कॉमन एंट्रेंस टेस्ट) में टॉप रैंकिंग हासिल की है।


Advertisement

खास बात यह है कि वी मोहन का परिवार आर्थिक रूप से बेहद कमजोर है। उनके पिता वी सुब्बा राव समोसा बेचकर अपने परिवार का पेट पालते हैं। पश्चिमी गोदावरी जिले से ताल्लुक रखने वाले सुब्बा राव 13 साल पहले बेहतर जिंदगी की तलाश में शहर आ गए थे।

मीडिया रिपोर्ट्स में वी मोहन के हवाले से बताया गया है कि जब वह आठवीं कक्षा में थे, तभी उन्होंने सोच लिया था कि वह आईआईटी से इंजीनियरिंग की पढ़ाई करेंगे। इसके बाद वह लगातार अपने लक्ष्य पर निगाहें टिकाए रहे।

वी मोहन को 360 में से 345 अंक हासिल हुए हैं। अब वह आईआईटी चेन्नै में इंजीनियरिंग फिजिक्स में एडमिशन चाहते हैं। एक वैज्ञानिक बनने का सपना लिए मोहन ने अपनी सफलता का श्रेय परिजनों, शिक्षकों और अपनी मेहनत को दिया है।

Advertisement
Tags

आपके विचार


  • Advertisement