यह सड़क सूर्य के प्रकाश से ग्रहण करती है ऊर्जा, खुद-ब-खुद होती है रौशन

author image
Updated on 26 May, 2016 at 3:57 pm

Advertisement

आने वाले समय में सड़कों पर रोशनी के लिए बिजली की खपत नहीं होगी। दरअसल, सड़कें खुद-ब-खुद रौशन होंगी। इस रिपोर्ट के मुताबिक, वैज्ञानिकों ने एक ऐसी सीमेन्ट तैयार की है, जो खुद से ही रौशन होगी।

यह सीमेन्ट दिन में सूरज से ऊर्जा ग्रहण करती है और रात होते ही इस ऊर्जा को प्रकाश में बदल देती है। इसे बनाया है मेक्सिको में मीचोअकान की यूनिवर्सिटी ऑफ सैन निकलस हिडाल्गो के वैज्ञानिकों ने।

इसका मतलब यह हुआ कि सूरज से ऊर्जा लेने वाली इस सीमेन्ट से बनी सड़कों के लिए अलग से स्ट्रीटलाइट्स की जरूरत नहीं पड़ेगी। इस तरह की सड़क से हरे और नीले रंग का प्रकाश मिलता है।

यही नहीं, इसके प्रकाश की तीव्रता को नियंत्रित भी किया जा सकता है, ताकि लोगों को सड़क पर गाडी चलाने या आवागमन करने में तकलीफ न हो। वैज्ञानिकों का दावा है कि यह सीमेन्ट सालों-साल चलेगी।

इस परियोजना पर करीब 9 साल पहले काम शुरू किया गया था।

कैसे सफल हुआ यह प्रयोग।


Advertisement

विश्वविद्यालय के शोधकर्ता जोस कार्लोस रूबिओ कहते हैं कि यह प्रयोग एक मुश्किल काम था। सीमेन्ट एक अपारदर्शी पदार्थ है, जो प्रकाश को अपने अंदर नहीं घुसने देता। धूल जैसी सामान्य सीमेन्ट को जब पानी में घोला जाता है तो यह जेल का रूप लेता है।

उसी समय इसमें कुछ क्रिस्टल जैसे टुकड़े बनने लगते हैं, जो ठोस जमी हुई सीमेन्ट के सब-प्रॉडक्ट होते हैं। सीमेन्ट के इस माइक्रो-स्ट्रक्चर को इस तरह परिष्कृत किया गया है, ताकि यह क्रिस्टल न बने। ऐसा होने पर सीमेंट बिलकुल जेल जैसे पदार्थ में परिवर्तित हो जाती है।

जेल के रूप में यह दिन में सौर ऊर्जा को सोख सकती है, औऱ रात में उसी ऊर्जा को प्रकाश के रूप में 12 घंटों तक निकाल सकती है।

इस टीम ने इस आविष्कार का पेटेन्ट करवा लिया है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement