पत्नी का मोबाइल चेक करना पति को पड़ा भारी, 50 हजार रुपए का जुर्माना

author image
Updated on 22 Apr, 2017 at 11:27 am

Advertisement

पत्नी के मोबाइल फोन की जासूसी करना एक व्यक्ति को भारी पड़ गया। पत्नी ने शिकायत की तो अब उसे 50 हजार रुपए का जुर्माना देना पड़ा है। यह जुर्माना पश्चिम बंगाल की साइबर अदालत ने लगाया है।

द टेलीग्राफ में छपी रिपोर्ट में कहा गया है कि हावड़ा में रहने वाले अमित कुमार सेन की शादी इसी शहर में रहने वाली तान्या मुखर्जी के साथ वर्ष 2013 में हुई थी। इस जोड़े की मुलाकात फेसबुक पर हुई थी। दोनों पहले दोस्त बने, प्रेम हुआ और फिर बाद में शादी कर ली।

trekearth
सांकेतिक तस्वीर


Advertisement

अमित कुमार को शक था कि एक्सपोर्ट-इम्पोर्ट फर्म के साथ काम करने वाली उसकी पत्नी तान्या का किसी और के साथ अफेयर चल रहा है, इसलिए वह उसके फोन की जासूसी करने लगा। उसने न केवल अपनी पत्नी पर नजर रखना शुरू किया, बल्कि उसके फोन कॉल्स और मैसेज पर भी नजर रखने लगा। इस संदेह की वजह से दोनों के बीच नहीं बन पा रही थी।

तान्या के वकील ने अखबार को बताया कि प्रेम और विश्वास की वजह से उसने अपने पति को अपना फेसबुक तथा ईमेल आईडी का पासवर्ड बता रखा था। तान्या को अपने पति पर भरोसा था। तान्या का कहना है कि लगातार शक की निगाहों से देखे जाने की वजह से उसे लगा कि उसकी शादी टूटने जा रही है और इस वजह से वह कुछ ही महीने बाद अपने माता-पिता के यहां वापस आ गई। हालांकि, वर्ष 2014 के जनवरी महीने में अमित उसे वापस ले आया, ताकि वह अपना जन्मदिन मना सके। अमित ने उसे एक मोबाइल फोन उपहार-स्वरूप दिया। इस फोन का जब वह इस्तेमाल कर रही थी, तब उसे संदेह हुआ कि फोन में कुछ गड़बड़ है। बाद में तान्या को पता चला कि उसके फोन में टीम-व्यूअर नामक एक सॉफ्टवेयर इन्सटॉल किया हुआ है, जिसके जरिए अमित उसके फोन पर नजर रख रहा है और कॉल्स रिकॉर्ड कर रहा है।

इसी दौरान वर्ष 2014 के फरवरी महीने में तान्या को हावड़ा के जिला जज की तरफ एक पत्र मिला जिसमें कहा गया था कि उसे अपने सास-ससुर के घर जाने से रोक दिया गया है। इसके बाद वर्ष 2014 के जून महीने में तान्या को पता चला कि अमित ने हावड़ा जिला अदालत में तलाक का मामला दाखिल करवा दिया है।

तलाक के कागजात से उसे पता चला कि उसके फोन में टीम-व्यूअर नामक एक सॉफ्टवेयर इन्सटॉल किया हुआ था, जिसके जरिए अमित उसके फोन पर नजर रख रहा है और कॉल्स रिकॉर्ड कर रहा था। साथ ही, मैसेज और मेल्स पर भी नजर रख रहा था।

तान्या का दावा है कि फरवरी महीने के बाद से उसने अमित से कई बार बात करने की कोशिश की है, लेकिन नतीजा सिफर रहा है। इस बावत तान्या ने शिवपुर थाना में शिकायत दर्ज करवा दी। बाद में जिला अदालत में तान्या के वकील बिभाष चटर्जी ने कहा कि उसके पति को उसकी निजी जिन्दगी में ताकझांक का अधिकार नहीं है। पति अमित कुमार सेन ने IT एक्ट के खिलाफ जाकर पत्नी की निजता भंग की है। हालांकि, अमित के वकील अालोक कुमार लाहा ने इसका विरोध किया।

बाद में जज तल्लीन कुमार ने तान्या मुखर्जी के पक्ष में फैसला सुनाते हुए अमित कुमार सेन पर 50 हजार रुपए का जुर्माना लगाया। साथ ही जुर्माने की राशि एक महीने के भीतर जमा करने का निर्देश दिया है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement