‘जिया धड़क-धड़क’ फेम इस एक्ट्रेस को पहचानना हुआ मुश्किल, इस बिमारी से लड़ रही हैं जंग

author image
Updated on 19 Feb, 2018 at 4:09 pm

Advertisement

“तुझे देख-देख सोना, तुझे देख कर है जगना
मैने ये ज़िंदगानी, संग तेरे बितानी
तुझ में बसी है मेरी जान हाय
जिया धड़क धड़क, जिया धड़क धड़क
जिया धड़क धड़क जाए”

 

साल 2005 में फिल्म ‘कलयुग’ का ये गाना आपको याद ही होगा। कुणाल खेमू और इसी फिल्म से डेब्यू कर रही स्माइली सूरी पर फिल्माया गया ये गाना काफी मशहूर हुआ था। हालांकि, स्माइली का फ़िल्मी करियर कुछ खास अच्छा नहीं रहा।

 


Advertisement

 

बता दें कि स्माइली बॉलीवुड के मशहूर डायरेक्टर मोहित सूरी की बहन हैं और मुकेश भट्ट और महेश भट्ट उनके मामा हैं। उन्होंने बॉलीवुड में अपना नाम कमाने के मकसद से इस इंडस्ट्री में कदम रखा, लेकिन उन्हें उपलब्धि हासिल नहीं हुई।

 

 

स्माइली ‘कलयुग’ सहित ‘ये मेरा इंडिया’, ‘तीसरी आंख : द हिडेन कैमरा’, ‘क्रूक’, ‘क्रैकर्स’, ‘डाउन टाइम’ जैसी फिल्मों में नजर आईं। इसके अलावा उन्होंने टीवी सिरिअल्स में भी काम किया। उन्होंने टीवी शो जोधा अकबर में रुकैया बेग़ुम का किरदार निभाया था। स्माइली ने नच बलिये 7 में भी भाग लिया था । इस शो के बाद वह किसी भी फिल्म या सीरियल में नजर नहीं आईं।

 

 

कभी बॉलीवुड फिल्म ‘कलयुग’ में स्लिम ट्रिम नजर आने वाली स्माइली अब बहुत बदल गई हैं।

 

स्माइली ने हाल ही में अपने फेसबुक पर एक विडियो शेयर किया, जिसमें उन्होंने अपने डिप्रेशन में होने की बात कही। उन्होंने बताया-

 

“पिछला साल मेरे लिए बहुत बुरा रहा। मैंने अपने पापा और दादी को खो दिया। इसके अलावा भी मेरी जिंदगी में बहुत कुछ हो रहा था। मैं अकेला महसूस कर रही थी। इससे मैं डिप्रेशन में चली गई। मुझे समझ ही नहीं आता था कि मैं क्या करूं। फिर मैंने फैसला लिया कि मुझे इससे बाहर निकलना होगा।”

 

 

जिंदगी में चल रही उथल-पुथल के कारण उनका वजन भी बढ़ने लगा।

 

 



इसके बाद उन्होंने इससे बाहर निकलने के लिए पोल डांस का सहारा लिया।

 

 

उन्होंने बताया कि वह बचपन से ही डांस में एक्टिव हैं। इसलिए उन्होंने खुद को डांस के जरिये व्यस्त रखना शुरू कर दिया।

 

 

मेडिटेशन का भी सहारा किया। साथ ही एक्यूपंचर थेरिपी योगा को भी अपनी जीवनशैली में अपनाया।

 

 

स्माइली इसके लिए कई महिलाओं को प्रेरित भी करती है।

 

 

गौरतलब है कि डिप्रेशन एक बहुत गंभीर और आम बीमारी है, जिससे दुनिया की लगभग 10% आबादी प्रभावित हैं। यदि इसे बिना इलाज के छोड़ दिया जाये, तो यह आपके जीवन के हर पहलु पर भारी दुष्प्रभाव डाल सकता है। यहां तक कि इससे जूझ रहा इंसान कोई गलत कदम भी उठा सकता है। इसलिए जरूरी है कि वक़्त रहते इससे बाहर निकला जाए। ऐसे में स्माइली खुद को इस बिमारी से बाहर निकालने के लिए जी जान से लगी हुईं हैं और अन्य लोगों को भी इसके लिए प्रेरित कर रही हैं।

 

 


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement