“मोदी लहर आई तो विरोधी डूबे ही, सिद्धू को भी डुबो दिया”

author image
Updated on 25 Jul, 2016 at 5:39 pm

Advertisement

नवजोत सिंह सिद्धू ने आज भाजपा पर जमकर भड़ास निकाली। एक प्रेस कॉन्फ्रेन्स कर सिद्धू ने कहा कि उन्होंने राज्यसभा से इसलिए इस्तीफा दिया, क्योंकि भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें पंजाब से दूर रहने के लिए कहा था। पूर्व क्रिकेटर ने कहा कि वह अपनी जड़ें नहीं छोड़ सकते।


Advertisement

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहाः

“मैं यहां से चार बार जीता। मुझे अब भी नहीं पता कि मेरी किस गलती की वजह से ऐसी सजा मिले। कोई मेरा कसूर तो बताओ। जब पंजाब में भाजपा कमजोर थी, तब मैंने पार्टी को मजबूत करने में पूरी ताकत लगा दी। मैं जनता के प्यार और समर्थन से चार बार जीता। जब मोदी लहर थी और तब अचानक मुझे कहा जाता है कि आप अमृतसर संसदीय सीट से नहीं लड़ेंगे। यह मेरे साथ सरासर नाइंसाफी है।”

आम आदमी पार्टी में शामिल होने के सवालों पर सिद्धू ने चुप्पी साधे रखी। उन्होंने यह बताने से इन्कार किया कि वह किस राजनीतिक दल में शामिल होने जा रहे हैं, लेकिन उन्होंने यह जरूर कहा कि जहां पंजाब का हित होगा, वह वहीं खड़े होंगे।

सिद्धू ने कहाः

“अमृतसर से हटाकर मुझे कुरूक्षेत्र और फिर पश्चिमी दिल्ली से चुनाव लड़ने को कहा गया। मैंने कहा कि मैं अपने लोगों को धोखा नहीं दूंगा। जब मोदी साहब की लहर आई तो विरोधी तो डूबे ही, सिद्धू को भी डूबो दिया। यदि मेरे साथ पहली बार ऐसा होता तो मैं सह लेता, लेकिन यह तीसरी-चौथी बार हुआ है।”

इस बीच, भारतीय जनता पार्टी ने कहा है कि नवजोत सिंह सिद्धू अब भी भाजपा में हैं। पार्टी की पंजाब इकाई के प्रमुख विजय सांपला ने कहा कि सिद्धू ने भाजपा की सदस्यता से इस्तीफा नहीं दिया है।

सांपला ने कहा कि सिद्धू ने राज्यसभा से इस्तीफा दिया है, न कि भाजपा से।

इस बीच, कयास लगाए जा रहे हैं कि सिद्धू आम आदमी पार्टी में शामिल हो सकते हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement