Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

सियाचिन में तैनात भारतीय जवान किसी महानायक से कम नहीं होते

Updated on 23 December, 2016 at 5:26 pm By

सियाचिन ग्लेशियर दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा हिमनद है। सामरिक रूप से यह भारत और पाकिस्तान के लिए बेहद महत्वपूर्ण है। यह विश्व का सबसे ऊंचा युद्ध क्षेत्र है। सियाचिन में तैनात जवानों की क्षमता किसी महानायक से कम नहीं होती। आइए जानते हैं किस तरह की विषम परिस्थितियों में भी हमारे यह जवान माइनस 50 डिग्री में भी फौलाद की तरह खड़े रहते हैं।

नहाना है मना

इन जवानों को नहाने के लिए मनाही है क्योकि अगर इन्होने पानी शरीर पर डाला तो जम जाएगा।

निरंतर व्यायाम है जीवन


Advertisement

माइनस 50 डिग्री में इन जवानों को निरंतर अभ्यास और व्यायाम करने की जरूरत होती है, वरना शरीर के अंग जम जाते हैं। यही वजह है कि यहां सैनिक निरंतर अभ्यास करते रहते हैं।

सोते हैं बर्फ के बंकर में

हमारे जवानों की ज़िंदगी बिल्कुल भी आसान नहीं होती। मात्र दो घंटे मिलते हैं, सोने के लिए। रात दो बजे सो कर चार बजे तक उठ जाते हैं। इस तरह सीमा की निगरानी करना सबके बस की बात नहीं।

विषम परिस्थितियों से लेते हैं लोहा



सियाचिन में तैनात जवानों को विषम परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है। अंधे गड्ढे किसी कब्र से कम नहीं होते। इसके इलावा मति भ्रम का ख़तरा होता है। भीषण बर्फ़ीले तूफ़ानों की वजह से हमेशा मति भ्रम होता है कि दुश्मन आ रहे हैं। और तो और एक पोस्ट पर सिर्फ़ दो जवान ही रह सकते हैं, क्योंकि जो सोने की जगह होती है, वह रेल गाड़ी के सीट के बराबर होती है।

अभ्यास ही जीवन है

यहां हालात इतने खराब होते हैं कि शौचालय के लिए भी अभ्यास करना होता है। सीजीआइ सीट से शौचालय का जुगाड़ होता है। अगर आप अख़बार पढ़ने के शौकीन है तो भूल जाइए। अख़बार तो दूर अगर अपने ज़्यादा वक़्त लगाया तो ‘फ्रॉस्टबाइट’ होने का ख़तरा है।

दस्ताने उतार कर अगर किसी धातु को छुआ तो ‘मेटॅलबाइट’ होंने की वजह से त्वचा उतरने लगेगी। शरीर को गर्म रखने के लिए कोई हीटर नही होते इसलिए मिट्टी के स्टोव का उपयोग करना होता है। अगर मिट्टी का तेल शरीर पर लग जाए तो आयल बर्न होने की आशंका होती है। इसलिए बिना अभ्यास के यहां जीना मुश्किल है।


Advertisement

हैं न यह जवान सच में महानायक? एक सलाम तो बनता ही है भारत के इन वीर सपूतों के लिए। 

Advertisement

नई कहानियां

सुहागरात से जुड़ी ये बातें बहुत कम लोग ही जानते हैं

सुहागरात से जुड़ी ये बातें बहुत कम लोग ही जानते हैं


नेहा कक्कड़ के ये बेहतरीन गाने हर मूड को सूट करते हैं

नेहा कक्कड़ के ये बेहतरीन गाने हर मूड को सूट करते हैं


मलिंगा के इस नो बॉल को लेकर ट्विटर पर बवाल, अंपायर से हुई गलती से बड़ी मिस्टेक

मलिंगा के इस नो बॉल को लेकर ट्विटर पर बवाल, अंपायर से हुई गलती से बड़ी मिस्टेक


PUBG पर लगाम लगाने की तैयारी, सिर्फ़ इतने घंटे ही खेल पाएंगे ये गेम!

PUBG पर लगाम लगाने की तैयारी, सिर्फ़ इतने घंटे ही खेल पाएंगे ये गेम!


अश्विन-बटलर विवाद पर राहुल द्रविड़ ने अपना बयान दिया है, क्या आप उनसे सहमत हैं?

अश्विन-बटलर विवाद पर राहुल द्रविड़ ने अपना बयान दिया है, क्या आप उनसे सहमत हैं?


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Military

नेट पर पॉप्युलर