श्रावण मास में भोलेनाथ को प्रसन्न करना चाहते हैं, तो गलती से भी शिवलिंग पर न चढ़ाएं ये 5 चीज़ें

10:45 am 4 Aug, 2018

Advertisement

श्रावण मास भोलेनाथ का पसंदीदा महीना माना जाता है। सदियों से इस माह में भगवान शिव की विशेष पूजा-अर्चना का प्रावधान है। ऐसा माना जाता है कि श्रावण मास के हर सोमवार को पूरे भक्ति भाव से भोलनाथ की पूजा करने से भोलनाथ भक्तों की सारी मनोकामनाएं पूरी कर देते हैं, लेकिन पूजा से पहले आपको ये भी पता होना चाहिए कि शिवलिंग पर कौन-सी चीज़ें नहीं चढ़ानी चाहिए। कुछ चीज़ें शिवलिंग पर चढ़ाना वर्जित माना गया है। कहा जाता है कि ऐसा करने पर आप दुर्भाग्य को बुलावा देते हैं।

 

1. नारियल का पानी

 

आमतौर पर सभी देवी-देवताओं को जो प्रसाद चढ़ाए जाते हैं, भक्त उसे खा सकते हैं, मगर शिवलिंग पर जो भी चीज़ें चढ़ाई जाती है उसे ग्रहण नहीं किया जा सकता। इसलिए शिवलिंग पर नारियल का पानी नहीं चढ़ाया जाता।

 

 

2. केतकी के फूल

 

प्राचीन ग्रंथों में जो लिखा है उसके मुताबिक, ब्रह्मा जी के कहने पर केतकी के फूल ने एक बार शिवशंकर के सामने झूठ बोला था, जिससे भोलनाथ नाराज़ हो गए और केतकी के फूल को अपनी पूजा में वर्जित कर दिया। ऐसा कहा जा है कि तभी से शिवलिंग पर केतकी के फूल नहीं चढ़ाए जाते हैं।

 

 

3. हल्दी

 


Advertisement

वैसे तो पूजा-पाठ में हल्दी का उपयोग शुभ माना जाता है, लेकिन शिवलिंग पर हल्दी नहीं चढ़ाई जाती। दरअसल, शिवलिंग पौरुष का प्रतीक है, जबकि हल्दी का इस्तेमाल महिलाएं अपना रूप निखारने के लिए करती हैं। इसलिए शिवलिंग पर हल्दी चढ़ाना सही नहीं माना जाता।

 

 

4. सिंदूर या कुमकुम

 

शादीशुदा महिलाएं पति की लंबी उम्र के लिए अपनी मांग में सिंदूर भरती है। शिव शंकर को विनाश का प्रतीक माना जाता है, इसलिए शिवलिंग पर सिंदूर या कुमकुम चढ़ाना शुभ नहीं माना जाता।

 

 

5. तुलसी

 

तुलसी को बहुत पवित्र माना जाता है और हर पूजा में इसका इस्तेमाल भी होता है, लेकिन शिवलिंग पर तुलसी नहीं चढ़ाई जाती। दरअसल, शिवपुराण के अनुसार,  देवी तुलसी कभी जालंधर नामक राक्षस की पत्नी थीं। जालंधर को मारने के लिए तुलसी के पतिधर्म को तोड़ना जरूरी था। भोलनाथ की मदद के लिए भगवान विष्णु ने धोखे से तुलसी का पतिव्रत भंग कर दिया। इस बात से क्रोधित होकर तुलसी ने शपथ ली कि उसका इस्तेमाल शिवजी की पूजा में नहीं किया जाएगा और यदि कोई ऐसा करता है तो उसका परिणाम अच्छा नहीं होगा।

 

 

ये चीज़ें शिवलिंग पर चढ़ाना शुभ नहीं माना जाता, जबकि धतूरा, बेलपत्र, ठंडा दूध, चदन और भस्म से शिवलिंग की पूजा करना बहुत शुभ और फलदायी माना जाता है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement