अपने ही गाँव में रामलीला नहीं कर पाए राम-भक्त नवाजुद्दीन सिद्दीकी

author image
Updated on 7 Oct, 2016 at 6:03 pm

Advertisement

बॉलीवुड के प्रसिद्ध अभिनेता नवाजुद्दीन भगवान राम के बहुत बड़े प्रशंसक हैं। उन्हें बचपन से ही रामलीला देखने और उसमें किरदार निभाने का शौक रहा है। लेकिन अफसोस की बात है कि उनका ये सपना पूरा नहीं हो सका। नवाजुद्दीन रामलीला में मारीच का किरदार निभाना चाहते थे लेकिन शिवसेना के विरोध के बाद उन्हें अपना कार्यक्रम रद्द करना पड़ा।

नवाजुद्दीन कार्यक्रम रद्द किए जाने के बाद काफी मायूस दिखाई दे रहे थे। हालांकि, रामलीला कमेटी और पुलिस की ओर से भीड़ अत्यधिक और इंतजाम कम होने का हवाला दिया गया है।

नवाजुद्दीन ने कहा कि उनका जीवन हमेशा से ही संघर्ष भरा रहा है। वे निराश हैं लेकिन फिर भी अगले साल वे फिर रामलीला में रोल के लिए कोशिश करेंगे।

आयोजकों के कहने पर ही वे मारीच का रोल करने के लिए मान गए थे। और यही निमंत्रण पर उन्होंने ‘मारीच’ का अभिनय करने के लिए कहा था, इसके लिए वह दिनभर घर में ही रिहर्सल करते रहे।

ndtvimg

ndtvimg


Advertisement

बुधवार रात दस बजे नवाजुद्दीन के रामलीला में आने की सूचना फैलते ही भीड़ जुटनी शुरू हो गई। स्थानीय खुफिया विभाग की ओर से भी आयोजन स्थल कम और भीड़ ज्यादा होने की रिपोर्ट दी गई।

पुलिस ने रामलीला कमेटी को यह भी समझाने की कोशिश की, कि नवाजुद्दीन अगर रामलीला में किरदार निभाते हैं तो वहां उनके प्रशंसकों की भीड़ जमा हो जाएगी। ऐसे में अगर किसी ने कोई शरारत कर दी तो लेने के देने पड़ सकते हैं। इसी आशंका के चलते रामलीला के संयोजक एवं नगर पंचायत अध्यक्ष जितेंद्र त्यागी ने नवाजुद्दीन का कार्यक्रम निरस्त करने की घोषणा की। त्यागी ने बताया कि अब यह रोल रामलीला के अन्य कलाकार ही करेंगे।



इस मुद्दे पर बातचीत के दौरान नवाजुद्दीन ने कहा कि वे बचपन से ही भगवान राम के भक्त रहे हैं। यही वजह थी कि उन्होंने ‘मारीच’ का रोल अदा करने का फैसला लिया था।

नवाजुद्दीन को भले कुछ शिव सैनिकों ने रामलीला नहीं करने दी हो, लेकिन पूरे यूपी में मुसलमान रामलीलाओं में रोल करते हैं। सुल्‍तानपुर में एक मुस्लिम परिवार 105 साल से रामलीला करवा रहा है। राम की नगरी अयोध्‍या में मुस्लिम 52 सालों से रामलीला करते रहे हैं और लखनऊ में 45 साल से एक ऐसी रामलीला होती है, जिसमें राम,लक्ष्‍मण, रावण और दशरथ सारे मुख्‍य किरदार मुस्लिम ही अदा करते हैं।

आपको बता दें कि उरी हमले के बाद भारत में पाकिस्तानी कलाकारों का विरोध जारी है। बॉलीवुड भी इस मुद्दे पर दो खेमें में बंट गया है। इस मामले में इतनी ज्यादा कंट्रोवर्सी हो चुकी है कि लोग अब संभलकर ही अपनी टिपण्णी कर रहे हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement