Advertisement

‘भगवान ने मेरे लिए कुछ अलग योजना बनाई थी’

author image
4:39 pm 27 Jul, 2017

Advertisement

बाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने लंबे समय बाद भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम  में वापसी की। इस बल्लेबाज ने श्रीलंका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में धुआंदार प्रदर्शन दिखाते हुए 168 गेंदों में शानदार 190 रन जड़े।

यह पारी उनके लिए बहुत खास रही। दरअसल, श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज की टीम में शिखर धवन का चयन नहीं हुआ था। वह इससे हताश थे, लेकिन तकदीर ने फिर करवट बदली है।

उन्हें मुरली विजय के चोटिल होने के कारण 15 सदस्यीय टीम में जगह मिली और फिर केएल राहुल की तबियत अचानक खराब होने की वजह से टेस्ट सीरीज का पहला मैच खेलने का मौका भी मिला। शिखर धवन ने इस मौके को बखूबी भुनाया और शानदार पारी खेलते हुए अपने आलोचकों का मुंह बंद कर दिया।

इसे किस्मत का लेखा ही कहेंगे कि जिस सीरीज में चयन न होने की वजह से शिखर निराश थे, उसमें उनका चयन भी होता है। और वह शानदार पारी भी खेल गए।

शिखर लम्बे समय से खराब फॉर्म से जूझ रहे थे। उन्होंने इस पारी के बाद अपने करियर के उन मुश्किल दिनों को याद किया, जब वह टेस्ट टीम का हिस्सा नहीं थे। उन्होंने कहाः

 “जब मैं बुरे दौर से गुजर रहा था, तो मुझे पता था कि अगर मैं रन नहीं बनाऊंगा तो मुझे टीम से बाहर किया जा सकता है। निश्चित तौर पर एक समय मैं यह दबाव महसूस कर रहा था और जब मुझे टेस्ट टीम से बाहर किया गया, तो मैं काफी आहत था। लेकिन मैं जल्द से उबर गया और मैंने दिल्ली के लिए घरेलू क्रिकेट खेलनी शुरू कर दी और मैंने वहां खेलने का पूरा मजा लिया। मुझे हमेशा दुखी रहना पसंद नहीं है। मुझे खुश रहना पसंद है और इसलिए मैंन वहां खेल का पूरा लुत्फ उठाया और मैं जानता था कि वक्त जब करवट लेगा तो फिर वह मेरा होगा।”

श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में चोटिल मुरली विजय के बाहर होने के कारण उन्हें आखिरी क्षणों में टीम में शामिल किया गया। इस पर धवन ने कहाः


Advertisement

 “मेरी योजना मेलबर्न में अपने परिवार के साथ समय बिताने, ट्रेनिंग करने और वनडे सीरीज के लिए फिट होने की थी। जब मुझे टेस्ट टीम में चयन की खबर मिली, तब मैं हांगकांग में वक्त गुजार रहा था। वहां से फिर मैं भारत वापस आया और भारतीय टीम को ज्वाइन किया।”

टेस्ट टीम में हुई इस अचानक वापसी से खुश शिखर ने कहा:

“मैं टेस्ट टीम में अपनी वापसी को लेकर काफी खुश हूं। ये मेरे लिए बहुत गर्व की बात है। मुझे मुरली विजय की जगह टीम में शामिल किया गया है। मेरा लक्ष्य अपनी टीम के लिए अच्छा क्रिकेट खेलना और जमकर रन बनाना है।”

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement