कल्पना-सुनीता के बाद अब यह ‘भारतीय’ महिला भरने जा रही है अंतरिक्ष में उड़ान

author image
Updated on 10 Feb, 2017 at 3:43 pm

Advertisement

भारत की एक और महिला, अंतरिक्ष की यात्रा कर इतिहास रचने की तैयारी में है। 32 वर्षीय न्यूरोसर्जन डॉ. शावना पांड्या, कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स के बाद किसी अंतरिक्ष मिशन का हिस्सा बनने वाली भारतीय मूल की तीसरी महिला बनेंगी।

कनाडा की अल्बर्टा यूनिवर्सिटी में जनरल फिजिशन डॉ. शावना का अंतरिक्ष अभियान के लिए चुनाव सिटिजन साइंस ऐस्ट्रोनॉट प्रोग्राम के माध्यम से हुआ है।

3200 कैंडिडेट्स के बीच टॉप करते हुए उन्होंने 2018 में रवाना होने वाले दो मिशनों में स्थान बनाया है। डॉ. शावना नौ अंतरिक्ष यात्रियों की टीम का हिस्सा बनेंगी।

अपनी अंतरिक्ष यात्रा के दौरान इस मिशन में बायो-मेडिसिन और मेडिकल साइंस में प्रयोग उनकी जिम्मेदारी होगी। वह सूक्ष्म गुरुत्वाकर्षण में मनोवैज्ञानिक, स्वास्थ्य और पर्यावरण परिवर्तनों पर भी काम करेंगी।

शावना मूल रूप से मुंबई की रहने वाली हैं। उनके दादा-दादी अब भी मुंबई के महालक्ष्मी में रहते हैं। बचपन से ही डॉक्टर और अंतरिक्ष यात्री बनने का सपना देखने वाली पांड्या शानदार ओपेरा गायिका भी हैं। वह ताइक्वांडो की अंतरराष्ट्रीय चैंपियन हैं।

शावना ने यूनिवर्सिटी ऑफ अल्बर्टा से न्यूरोसाइंस में बीएसई और इंटरनेशनल स्पेस यूनिवर्सिटी से स्पेस साइंस में एमएसई किया है। इसके बाद उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ अलबर्टा से मेडिसिन में एमडी की डिग्री हासिल की।

बहरहाल, वे फ्लोरिडा स्थित एक्वेरियस स्पेस रिसर्च फसिलिटि में सौ दिन के अंडरवॉटर मिशन ‘प्रॉजेक्ट पोसाइडन’ की महत्वपूर्ण क्रू मेंबर हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement