शरद यादव के बिगड़े बोल, कहा बेटी की इज्जत से बढ़कर है वोट

author image
Updated on 25 Jan, 2017 at 5:10 pm

Advertisement

विवादित बयानबाजी के लिए मशहूर जनता दल यू नेता शरद यादव ने एक बार फिर कुछ ऐसा कहा है जिस पर लोग खफा हैं। राज्यसभा सांसद शरद यादव ने कहा है कि वोट की इज्जत बेटी की इज्जत से बड़ी होती है। उनके इस बयान पर हंगामा मचने के बाद शरद यादव ने सफाई दी है। उन्होंने अपनी सफाई में कहा है कि उनके कहने का मतलब यह था कि जैसे बेटी से प्यार करते हैं, वैसे ही वोट से भी प्यार करना चाहिए।

यादव ने यह विवादित बयान कल पटना में आयोजित एक जनसभा के दौरान दिया था। यादव ने कहा थाः

लोगों को यह बताना बेहद जरूरी है कि बैलट पेपर कैसे काम करता है। वोट की इज्जत आपकी बेटी की इज्जत से ज्यादा बड़ी होती है। अगर बेटी की इज्जत गई तो सिर्फ गांव और मोहल्ले की इज्जत जाएगी लेकिन अगर वोट एक बार बिक गया तो देश और सूबे की इज्जत चली जाएगी। भविष्य के लिए संजोए हमारे सारे सपने खत्म हो जाएंगे।

इस बीचस राष्ट्रीय महिला आयोग ने शरद यादव के इस बयान पर कड़ी आपत्ति जताई है। राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष ललिता कुमारमंगलम ने कहा है कि इस बयान को लेकर शरद यादव को नोटिस भेजी जाएगी। कुमारमंगलम ने कहा कि महिलाएं कोई राजनीतिक टूल नहीं हैं।



शरद यादव इससे पहले भी कई बार विवादित बयानबाजी कर चुके हैं।

एक बार उन्होंने केन्द्रीय मंत्री स्मृति इरानी पर तंज कसते हुए कहा थाः

मैं जानता हूं कि आप कौन हैं।

इसके अलावा संसद में महिलाओं पर आपत्तिजनक बातें कहीं थींः

दक्षिण भारतीय महिलाओं को देखिए। वे सांवली होती हैं, लेकिन उनका शरीर खूबसूरत होती हैं। वे अच्छा डांस करती हैं।

इसके अलावा कांवड़ियों के बारे में विवादित बयान देते हुए उन्होंने कहा थाः

बेरोजगार हैं इसलिए कांवड़ लेकर जाते हैं। देश में कितनी बेरोजगारी है इसका अंदाजा कांवड़ियों की संख्या से लगाया जा सकता है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement