शाहिद अफ़रीदी बोले- पाकिस्तान से चार सूबे तो संभल नहीं रहे और…

author image
5:42 pm 15 Nov, 2018

Advertisement

क्रिकेटर शाहिद अफ़रीदी ने भले ही क्रिकेट से संन्यास ले लिया हो, लेकिन वो क्रिकेट से परे कश्मीर मुद्दे अपनी ज़ुबान चलाते रहते हैं। अभी हाल ही में अफ़रीदी ने पाकिस्तान के नए नवेले प्रधानमंत्री इमरान खान को कश्मीर विवाद पर सीख देते हुए कुछ ऐसा कह डाला, जिससे उनके मुल्क में हलचल हो गई।

 

 


Advertisement

लंदन में हुए एक इवेंट के दौरान अफ़रीदी ने कश्मीर मुद्दे पर बात करते हुए कहा पाकिस्तान अपने चार राज्यों को ठीक से संभाल नहीं सकता तो उसे कश्मीर की मांग नहीं करनी चाहिए। अफ़रीदी ने ब्रिटिश संसद में छात्रों से बात करते हुए कहा-

 

“मैं कहता हूं चलो पाकिस्तान को नहीं चाहिए कश्मीर। भारत को भी न दो। कश्मीर अपना एक मुल्क़ बने। कम से कम इंसानियत तो ज़िंदा रहे। जो लोग मर रहे हैं वो तो न हो। नहीं चाहिए पाकिस्तान को। पाकिस्तान से ये चार सूबे नहीं संभल रहे। जो वहां पर लोग मर रहे हैं, तक़लीफ़ होती है।  कहीं पर भी इंसान मरता है, चाहे वह किसी भी मज़हब का हो, तक़लीफ़ होती है।”

 

 

उनका इस बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया जाने लगा। फिर क्या, पहले से ही विवादित मुद्दे पर फिर विवाद खड़ा हो गया। मामले को तूल पकड़ता देख शहीद अफ़रीदी ने लगातार दो ट्वीट किए। अपनी सफ़ाई में उन्होंने कहा-

 

“मेरे बयान को भारतीय मीडिया ने गलत लिया। मैं अपने देश के लिए जुनूनी हूं और कश्मीरियों के संघर्षों की बहुत इज्जत करता हूं। मानवता को जीवित रहना चाहिए और उन्हें अपने अधिकार मिलने चाहिए।”



 

अफ़रीदी ने एक और ट्वीट में अपनी बात पूरी करते हुए लिखा, “क्लिप अधूरी और मुद्दे से बाहर की है क्योंकि इससे पहले जो कहा वो उसमें है ही नहीं। कश्मीर अनसुलझा विवाद है और क्रूर भारतीय कब्जे के तहत है। संयुक्त राष्ट्र संकल्प के अनुसार इसे हल किया जाना चाहिए। मेरे साथ हर पाकिस्तानी कश्मीरी स्वतंत्रता संघर्ष का समर्थन करता है। कश्मीर पाकिस्तान से संबंधित है।”

 

 

 

शाहिद अफ़रीदी के कश्मीर वाले बयान पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी अपना बयान दिया है। उनका कहना है, “बात तो ठीक कही उन्होंने। वो पाकिस्तान नहीं संभाल पा रहे कश्मीर क्या संभालेंगे। कश्मीर भारत का हिस्सा था, है और रहेगा।

 

अफ़रीदी पहले भी कई बार कश्मीर से जुड़े मुद्दे पर बयान दे चुके हैं। इसी साल अप्रैल महीने में अफ़रीदी ने टि्वटर पर लिखा था कश्मीर में मौजूदा स्थिति चिंताजनक और भयानक हैं। उन्‍होंने भारतीय सेना और सरकार को निशाना बनाते हुए कहा था दमनकारी शासक दृढ़ संकल्प और स्वतंत्रता की आवाज़ को दबाने के लिए निर्दोर्षों को गोली मार रहे हैं। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र को कश्मीर मुद्दे पर हस्तक्षेप करने को भी कहा था। इसके बाद अफ़रीदी का काफ़ी विरोध भी हुआ था। शाहिद अफ़रीदी के कश्मीर मुद्दे पर दिए गए इस बयान के बाद भारतीय क्रिकेटरों ने भी उन्हें करारा जवाब दिया था।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement