एक गांव का लड़का जब बड़े पर्दे पर छाता है तो उसे कहते हैं नवाजुद्दीन सिद्दीकी

author image
Updated on 19 Jul, 2017 at 3:53 pm

Advertisement

नवाजुद्दीन सिद्दीकी एक मंजे हुए अभिनेता है। रुपहले पर्दे पर उनकी अदाकारी ही उनकी पहचान है। सिद्दीकी ने कभी एक पेट्रोकेमिकल कंपनी में बतौर केमिस्ट, तो कभी अपने खर्चों को पूरा करने के लिए दिल्ली में चौकीदार के रूप में भी काम किया। इसी दौरान एक्टिंग में दिलचस्पी रखने वाले नवाज ने एक्टिंग सीखने के लिए थियेटर ज्वाइन कर लिया। नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने आज जिस मुकाम पर है, उसके पीछे उनकी कड़ी मेहनत है।

हाल ही में बॉलीवुड के सबसे प्रतिभाशाली और बहुमुखी अभिनेताओं में से एक गिने जाने वाले नवाजुद्दीन ने अपने एक ट्वीट में उनके साथ बरते गए रंगभेद की ओर इशारा किया।

43 वर्षीय अभिनेता ने लिखाः

“मुझे यह एहसास दिलाने के लिए शुक्रिया कि मैं किसी गोरे और हैंडसम के साथ काम नहीं कर सकता, क्योंकि मेरा रंग डार्क है, मैं दिखने में भी अच्छा नहीं, लेकिन मैंने कभी उन चीजों पर फोकस ही नहीं किया।”

नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने इस तरह की प्रतिक्रिया अचानक क्यों दी, इसे लेकर अभी कुछ साफ नहीं है। फिल्म ‘मुन्ना माइकल’ की प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने अपने इस ट्वीट को लेकर कहाः


Advertisement

“मुझे जैसा लगा मैंने वैसा ही ट्वीट किया। किसी ने मुझ से कुछ कहा था और यह ट्वीट उसी बात का जवाब है।”

हालांकि, नवाजुद्दीन ने उस इंसान के नाम का खुलासा नहीं किया, जिसके लिए उन्होंने यह ट्वीट किया। लेकिन कयास लगाए जा रहे हैं कि उनका यह जवाब, उनकी आने वाली फिल्म ‘बाबूमोशाय बंदूकबाज’ के कास्टिंग डायरेक्टर संजय चौहान के एक बयान को देकर दिया गया है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक, कास्टिंग डायरेक्टर संजय चौहान ने दिए गए अपने एक इंटरव्यू में कहा था-

“हम नवाज के साथ गोरे और सुंदर लोगों को कास्ट नहीं कर सकते। ये बहुत अजीब लगेगा। उनके साथ जोड़ी बनाने के लिए आपको अलग नैन नक्श और व्यक्तित्व वाले लोगों को लेना होगा।”

उधर, संजय चौहान ने अपना पक्ष रखते हुए कहा है कि उनकी बात को तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है। नवाज जैसे सीनियर एक्टर के लिए वह ऐसी बात कह भी नहीं सकते।

आपको बता दें कि बहुत पहले दिए गए अपने एक इंटरव्यू में नवाजुद्दीन ने कहा थाः

“एक आउटसाइडर होने के नाते मेरे लिए यह बेहद कठिन था। कई बार लोग यह कहकर ठुकरा देते कि मैं एक्टर की तरह नहीं दिखता, क्योंकि न तो मेरे सिक्स पैक ऐब्स हैं और न ही मैं लंबा-चौड़ा और हैंडसम हूं। लोग मेरे रंग-रूप के आधार पर मुझे जज करते रहे हैं।”

आज नवाजुद्दीन सिद्दीकी उन एक्टर्स की श्रेणी में आते हैं, जो काफी सरल हैं और बिना दिखावे के रहना पसंद करते हैं। सिद्दीकी ने अपनी कलाकारी के दम पर देश-विदेश में अपनी खास पहचान बनाई है। बेहद कम समय में उन्होंने हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री में एक बेहतर मुकाम हासिल किया है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement