पिता पेट्रोल पंप पर करते हैं चौकीदारी, बेटे ने CA बनकर नाम किया रौशन

author image
Updated on 22 Jan, 2017 at 8:02 pm

Advertisement

कहते हैं कड़े परिश्रम का फल मीठा होता है। पुणे के संदीप अकडे ने इस कथनी को अपनी मेहनत और कड़े परिश्रम के दम पर सही साबित कर दिखाया है।

23 साल के संदीप ने चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए जरूरी फाइनल एग्जाम पास कर लिया है।

महज 7 हजार रुपए महीने की सैलरी पर पेट्रोल पंप पर चौकीदारी करने वाले संदीप के पिता देवीदास अकडे अपने बेटे की इस उपलब्धि से बेहद खुश हैं।

संदीप के पिता पहले किराने की दुकानों में सामान उठाने का काम करते थे, लेकिन बाद में वक़्त के साथ बढ़ती उम्र, उन्हें यह काम करने की अनुमति नहीं दे रही थी। घर का खर्च भी चलाना था, ऐसे में वह पेट्रोल पंप पर सात हजार की मासिक आय के साथ बतौर चौकीदार काम करने लगे।

बुढ़ापे में पेट्रोल पंप पर चौकीदारी करते हुए देवीदास अकडे ने अपने बेटे को उसके पैरों पर खड़ा करने के लिए हर कोशिश की।

संदीप ने भी परिवार के हालात को संभालने के लिए दिन-रात मेहनत की। अपने एक दोस्त से प्रेरित होकर सीए की तैयारी में जुटे संदीप बताते हैं-


Advertisement

”मेरे परिवार में 12वीं पास करने वाला मैं अकेला व्यक्ति हूं। मेरे दोनों भाइयों को परिवार की नाजुक आर्थिक स्थिति के चलते बीच में ही पढ़ाई छोड़नी पड़ी थी। ऐसे में मेरे परिवार ने मुझे पढ़ाने के लिए बहुत मेहनत की है। अब मेरी बारी है कि मैं अपने परिवार के लिए कुछ बेहतर करूं।”

संदीप ने कोर्स की फीस का इंतजाम भी अपने आप किया। रजिस्ट्रेशन फीस भरने के लिए संदीप ने ‘अर्न एंड लर्न स्कीम’ के तहत काम करके पैसे का बंदोबस्त किया  और फाइनल एग्जाम को देखते हुए कोचिंग के लिए लोन लिया।

संदीप अब आगे एकाउंटिंग फर्म ‘बिग 4’ के साथ काम करना चाहते हैं। संदीप कहते है कि उनके परिवार ने उनके लिए बहुत कुछ किया है अब उनकी बारी है अपने परिवार को एक खुशहाल जिंदगी देने की।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement