18 साल से कम उम्र के नाबालिग नहीं ले सकेंगे दही हांडी में हिस्सा: सुप्रीम कोर्ट

author image
Updated on 17 Aug, 2016 at 3:44 pm

Advertisement

महाराष्ट्र में दही हांडी के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अहम फैसला सुनाया है।

सुप्रीम कोर्ट ने बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले को बरक़रार रखते हुए कहा है कि जन्माष्टमी के मौके पर होने वाले दही हांडी में मानव पिरामिड की ऊंचाई 20 फुट से अधिक नहीं होगी। इसमें 18 साल से कम उम्र के बच्चे भाग नहीं लेंगे।

राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से 2014 के आदेशों को स्पष्ट करने के लिए याचिका दाखिल की थी, जिसमें 12 साल तक के बच्चों को दही हांडी में हिस्सा लेने की इजाजत दी गई थी और साथ ही बॉम्बे हाईकोर्ट के 20 फुट की ऊंचाई सीमित करने के आदेश पर रोक लगा दी थी, लेकिन बाद में सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका का निस्तारण कर दिया।


Advertisement

 

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने दही हांडी के खिलाफ याचिकाकर्ता स्वाती पाटिल को नोटिस जारी किया था। याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि दही हांडी में साल 2011 में 156 लोग जख्मी हुए, जबकि 2015 में इनकी संख्या कई गुना बढ़ गई।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि पुरानी याचिका का निस्तारण हो चुका है, याचिका को दोबारा शुरू किया जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट महाराष्ट्र सरकार की दही हांडी के मामले में दाखिल अर्जी पर सुनवाई कर रहा है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement