एसबीआई की इस एटीएम ट्रांजेक्शन कटौती से आप भी हो सकते हैं प्रभावित!

3:05 pm 3 Oct, 2018

Advertisement

जनसुविधा के लिए तकनीक का इस्तेमाल बहुद फायदेमंद होता है, लेकिन सुरक्षा भी जरूरी है। खासकर जब रुपये-पैसों का मामला हो तो ये पहली प्राथमिकता हो जाती है। लोग बैंक पर भरोसा करते हैं और बैंक अब तकनीक पर भरोसा करके सुविधा और सेवा प्रदान के लिए अपने फलक का विस्तार कर रही है। इसके साथ ही कई चुनौती भी पेश आ रही हैं जिनसे निपटना बेहद जरूरी है। लिहाजा स्टेट बैंक ऑफ़ इण्डिया ने एक जरूरी कदम उठाने का फैसला किया है।

 

स्टेट बैंक ऑफ़ इण्डिया ने एक दिन में एटीएम से पैसा निकालने की सीमा में कटौती करने पर विचार किया है।

 


Advertisement

 

एटीएम की सुरक्षा एक बड़ा विषय बनता जा रहा है। आए दिन कई मामले देखे जा रहे हैं, जो कि एटीएम से सम्बद्ध होते हैं। बैंक ने तत्परता से सभी शाखाओं को निर्देश दिए हैं। बता दें कि 31 अक्तूबर से बैंक के ग्राहक एक दिन में महज 20,000 रुपये की राशि एटीएम से निकाल सकते हैं। वर्तमान में यह सीमा 40,000 रुपये की है।

 

एसबीआई आदेश के अनुसारः

“बैंकों को एटीएम ट्रांजेक्शन में होने वाली धोखाधड़ी और डिजिटल-कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने के लिए कैश निकासी सीमा को कम करने का फैसला लिया गया है। क्लासिक और मेस्ट्रो प्लैटफॉर्म पर जारी डेबिट कार्ड से भी निकासी सीमा को कम कर दिया गया है।”

 

 

बता दें कि धोखेबाज बैंक ग्राहकों के डेबिट कार्ड का पिन चोरी से पता कर लेते हैं लिहाजा सुरक्षा की दृष्टि से ये कदम उठाया गया है। बैंक अधिकारी पीके गुप्ता की मानें तो आंतरिक विश्लेषण दिखाता है कि एटीएम से ज्यादातर छोटी रकम की निकाली जाती है।

हालांकि, ऐसा नहीं है कि इससे सबको परेशानी होगी। जिन ग्राहकों को अधिक रकम की जरूरत है वे ऊंचे वैरिएंट कार्ड हासिल कर सकते हैं। धोखाधड़ी की स्थिति में कम राशि ही रिस्क के दायरे में होगा।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement