Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

असम में 8वीं तक संस्कृत की पढ़ाई अनिवार्य, राज्य सरकार का ऐतिहासिक फैसला

Published on 1 March, 2017 at 7:16 pm By

देवभाषा संस्कृत को एक बार फिर से लोगों के बीच लोकप्रिय बनाने के लिए असम में भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने ऐतिहासिक फैसला किया है। अब असम में 8वीं तक संस्कृत की पढ़ाई अनिवार्य कर दी गई है।


Advertisement

देश के अधिकतर हिस्सों में संस्कृत को एक ऐच्छिक विषय के रूप में पढ़ाया जाता है।

असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने इस बात की जानकारी ट्वीटर पर दी है।

संस्कृत को अनिवार्य करने के अलावा राज्य मंत्रिमंडल ने सरकारी स्कूलों में स्वच्छता अभियान की मॉनिटरिंग के लिए एक पद के निर्माण का फैसला किया है। यही नहीं, राज्य के सभी हाइस्कूल में एक कंप्युटर शिक्ष की नियुक्ति को भी हरी झंडी दी गई है।


Advertisement

इससे बच्चे कम्प्युटर के प्रति न केवल जागरूक हो सकेंगे, बल्कि टेक्नोलॉजी को समझने में उन्हें मदद मिलेगी।

Advertisement

नई कहानियां

इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा

इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा


मां के बताए कोड वर्ड से बच्ची ने ख़ुद को किडनैप होने से बचाया, हर पैरेंट्स के लिए सीख है ये वाकया

मां के बताए कोड वर्ड से बच्ची ने ख़ुद को किडनैप होने से बचाया, हर पैरेंट्स के लिए सीख है ये वाकया


क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए

क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए


G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!

G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!


Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा

Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Education

नेट पर पॉप्युलर