Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

दीया मिर्जा ने किया खुलासा आखिर क्यों उन्होंने सैनिटरी नैपकिन का इस्तेमाल करना किया बंद

Published on 10 December, 2017 at 1:22 pm By

इन दिनों बॉलीवुड अभिनेत्री दीया मिर्जा भले ही बड़े परदे से दूर हैं, लेकिन वह अन्य कार्यों में व्यस्त है।

हाल ही में उन्हें सयुंक्त राष्ट्र पर्यावरण सद्भावना दूत नियुक्त किया गया है। दीया हमेशा से ही पर्यावरण से जुड़े कार्यक्रमों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेती रही हैं।


Advertisement

 

 

सयुंक्त राष्ट्र पर्यावरण सद्भावना दूत नियुक्त किए जाने के बाद हाल ही में उन्होंने पर्यावरण की सुरक्षा पर बातचीत की।

न्यूज़ पोर्टल नवभारतटाइम्स से अपनी बातचीत में दिया ने बताया कि वह उन सभी चीजों का इस्तेमाल करना बंद कर चुकी हैं, जिससे पर्यावरण को पहुचंता है।

 


Advertisement

 

एक सवाल के जवाब में दीया ने कहा कि मैंने अपनी जिंदगी में ज्यादातर प्लास्टिक की चीजों का इस्तेमाल करना बंद कर दिया है।

 

वह बम्बू का टूथब्रश इस्तेमाल करती हैं और प्लास्टिक पैकेज्ड बोतल का पानी पीना उन्होंने छोड़ दिया है। इसके बजाय वह मेटल वॉटर बॉटल का इस्तेमाल करती हैं।

 

 



इसके अलावा दिया ने पीरियड्स के दौरान इस्तेमाल किए जाने सैनिटरी नैपकिन को लेकर भी बड़ी बेबाकी से जवाब दिया।

दीया ने बताया कि पीरियड्स में वह नॉर्मल सैनिटरी नैपकीन का इस्तेमाल नहीं करती क्योंकि ये पर्यावरण को तेजी से प्रदूषित करता है।

 

 

दीया मिर्जा बताती हैं-

 

“हमारे देश में स्त्रियों की स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए उपलब्ध सैनिटरी नैपकीन और डाइपर बहुत बड़े पैमाने पर पर्यावरण और वातावरण को प्रदूषित कर रहे हैं इसलिए मैं अपने मासिक धर्म के दिनों में सैनिटरी नैपकिन का इस्तेमाल करना बंद कर चुकी हूं। एक ऐक्टर होने के नाते मेरा यह कहना बहुत बड़ी बात है क्योंकि हम सैनिटरी नैपकिन का प्रचार भी करते हैं। मुझे जब भी कभी सैनिटरी नैपकिन के प्रचार के लिए कोई ऑफर आता भी है तो मैं साफ इनकार कर देती हूं।”

 

दिया ने बताया कि वह 100 प्रतिशत प्राकृतिक रूप से नष्ट होने वाले बायो डिग्रेडबल नैपकिन का इस्तेमाल करती हैं। दीया आगे बताती हैं-

 

“अब मैंने सैनिटरी नैपकिन की जगह 100 प्रतिशत प्राकृतिक रूप से नष्ट होने वाले बायोडिग्रेडबल नैपकिन का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। हमारे देश में सदियों से महिलाएं मासिक धर्म के दिनों में कॉटन का उपयोग करती थीं, लेकिन अब नई तकनीक की वजह से ऐसी चीजें आ गई हैं जो पर्यावरण को किसी भी तरह का कोई नुकसान न पहुंचाए।”

 

 


Advertisement

उन्होंने सभी महिलाओं से अपील की कि वह पर्यावरण की सुरक्षा के लिए और अपनी सेफ्टी के लिए सुरक्षित बायोडिग्रेडबल नैपकिन का इस्तेमाल करें।

Advertisement

नई कहानियां

नेहा कक्कड़ के ये बेहतरीन गाने हर मूड को सूट करते हैं

नेहा कक्कड़ के ये बेहतरीन गाने हर मूड को सूट करते हैं


मलिंगा के इस नो बॉल को लेकर ट्विटर पर बवाल, अंपायर से हुई गलती से बड़ी मिस्टेक

मलिंगा के इस नो बॉल को लेकर ट्विटर पर बवाल, अंपायर से हुई गलती से बड़ी मिस्टेक


PUBG पर लगाम लगाने की तैयारी, सिर्फ़ इतने घंटे ही खेल पाएंगे ये गेम!

PUBG पर लगाम लगाने की तैयारी, सिर्फ़ इतने घंटे ही खेल पाएंगे ये गेम!


अश्विन-बटलर विवाद पर राहुल द्रविड़ ने अपना बयान दिया है, क्या आप उनसे सहमत हैं?

अश्विन-बटलर विवाद पर राहुल द्रविड़ ने अपना बयान दिया है, क्या आप उनसे सहमत हैं?


आधार कार्ड कैसे होता है डाउनलोड? यहां जानें इसका आसान प्रोसेस

आधार कार्ड कैसे होता है डाउनलोड? यहां जानें इसका आसान प्रोसेस


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर