मौलवी ने सानिया मिर्जा के ड्रेस को बताया गैर-इस्‍लामी, लाइव टीवी पर महिला को पीटने की दी धमकी

author image
Updated on 17 Jan, 2017 at 7:08 pm

Advertisement

सानिया मिर्जा की ड्रेस एक बार फिर चर्चा में है। कई बार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर रहीं सानिया के पहनावे को एक मुस्लिम मौलवी ने गैर-इस्लामिक करार दिया है। महिलाओं के लिए इस्‍लामिक कानून की ‘व्‍याख्‍या’ करने वाले मौलवी का कहना है कि औरत के लिए सिर्फ जरूरत के वक्‍त में हथेली खोलने की इजाजत है।

टीवी चैनल जी न्यूज के कार्यक्रम ‘फतह का फतवा’ में हिस्सा लेने वाले मुस्लिम मौलवी साजिद रशीदी ने कहा:

“इस्‍लाम इजाजत नहीं देता। ह‍म अपनी बेटियों को बेपर्दा नहीं करना चाहते। वे कुश्‍ती लड़ने के लिए नहीं बनी हैं। आप सानिया मिर्जा को बढ़ावा दे रहे हैं, आप सलमान खान, शाहरुख खान, आमिर खान को सर्टिफिकेट देना चाहते हैं। इस्‍लाम में इसकी इजाजत नहीं है।”

साजिद रशीदी ने आगे कहा:

“मोहम्‍मद साहब ने 1,400 साल पहले कहा था कि एक जमाना आएगा जब लोग लिबास पहनकर भी नंगे दिखाई देंगे। मतलब लोग इतने चुस्‍त कपड़े पहनेंगे कि जिस्‍म के सारे हिस्‍से नजर आएंगे। बस इस्‍लाम इसको मना करता है। आप ऐसा लिबास पहनिए जिससे आपके हिस्‍से छिप जाएं।”


Advertisement

साजिद रशीदी सिर्फ यहीं नहीं रुके। उन्होंने फिल्मों को समाज में व्याप्त बुराइयों के लिए जिम्मेदार ठहरा दिया और कहा कि इस्लाम फिल्मों के खिलाफ है। वह शो के होस्ट तारेक फतेह द्वारा बॉलीवुड फिल्‍म दंगल का उदाहरण देने का जवाब दे रहे थे। तारेक ने पूछा था कि “दंगल में जो दो बच्चियां इंडिया का नाम रोशन कर रही थीं, क्‍या वह वहां कुछ गलत कर रही थीं?”

एक के बाद एक विवादित बयान देने वाले साजिद रशीदी को जब पैनल में मौजूद एक महिला प्रतिभागी ने अपने तर्क से जवाब देने की कोशिश की तो वह उनपर विफर पड़े।

पैनल में मौजूद महिला से उन्होंने कहा:

“मेरे पास छड़ी है, मैं इलाज कर दूंगा। बदतमीजी पर आएंगी न तो मैं आपसे ज्‍यादा बदतमीज हो सकता हूं। बदतमीज औरत। औरत हैं तो नाजायज फायदा उठाएंगी।”

रशीदी का धमकाने वाला विडियो आप यहां देख सकते हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement