मुंबई के सनम हसन मर्डर केस में नया मोड़, लैब से गायब हुआ दिल

Updated on 18 Jul, 2017 at 2:26 pm

Advertisement

मुंबई की सनम हसन की मौत करीब 5 साल पहले हुई थी और आज तक उसकी मौत के सही कारणों का पता नहीं चल पाया है। सनम मर्डर केस की तहकीकात के तहत ही सनम का दिल हैदराबाद के फॉरेंसिक लैब में जांच के लिए भेजा गया था, जो अब वहां से गायब हो चुका है। सनम के परिवार वालों का आरोप है कि किसी साजिश के तहत दिल को गायब किया गया है, ताकि जांच पूरी न हो सके।

हैरानी की बात तो ये है कि सनम का दिल पहले भी बदला जा चुका है। अभी जिसे सनम का दिल कहकर लैब में रखा गया था, जांच में वो किसी बुजुर्ग महिला का है, जबकि इससे पहले कलीना के फॉरेंसिक लैब में किसी आदमी के दिल से सनम का दिल बदल दिया गया था। सनम की मां का कहना है कि ये सब जानबूझकर किया जा रहा है।

उन्हें शक है कि कोई प्रभावशाली व्यक्ति, जो प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से सनम की मौत से जुड़ा हुआ है, दिल गायब करने के पीछे उसी का हाथ है। माता-पिता को अभी तक पता नहीं चल पाया है कि सनम का असली दिल अभी कहा है।



इससे पहले सनम की पोस्टमार्टम रिपोर्ट् में कहा गया था कि दिल में करीब 70 फीसदी का ब्लॉकेज था और उसके वजाइना में वीर्य मौजूद था। हालांकि माता-पिता ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट को गलत बताते हुए डीएनए परीक्षण की मांग थी।

सनम एक फुटबॉल खिलाड़ी थी और अपनी मौत से 12 दिन पहले ही उसने कॉलेज के टूर्नामेंट में हिस्सा लिया था। उसके मौत के कारणों का पता लगाने के लिए अगस्त 2016 में वर्सोवा कब्रस्तान से सनम का शव कब्र से बाहर निकाला गया था। फिलहाल जांच एजेंसी के लिए सबसे बड़ा सवाल यही है कि आखिर सनम का दिल कहा गया। इसे किसने गायब किया और क्यों?


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement