कश्मीर के पत्थरबाजों को उन्हीं की भाषा में जवाब देने जा रही है ‘संतों’ की सेना

author image
6:23 pm 6 May, 2017

Advertisement

जम्मू-कश्मीर में सेना के जवानों को अक्सर निशाना बनाया जाता है। सेना के जवानों को आए दिन निशाना बनाया जाता है, वहां उनपर पत्थरबाजी की घटना आम सी हो गई है।

अभी हाल ही में एक विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था कि कैसे कुछ युवक सेना के जवानों को लात और उनके साथ दुर्व्यवहार कर रहे हैं।

अब जम्मू-कश्मीर में अलगाववादियों और आतंकवादियों से जूझ रहे सेना और अर्धसैनिक बलों के जवानों की सहायता के लिए संतों का एक जत्था रवाना होने की तैयारी कर रहा है।

कश्मीर में पत्थरबाजों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए कानपुर के एक धार्मिक संगठन ‘जन सेना’ ने पत्थरबाजों की एक टीम तैयार की है। इस टीम में हजारों की संख्या में लोग हैं।

ये टीम करीबन 1000 संतों और स्थानीय लोगों को साथ लेकर 7 मई को कश्मीर के लिए रवाना होगी। इन संतों के साथ पत्थरों से भरा ट्रक भी जाएगा ताकि पत्थरबाजों को उन्हीं की भाषा में जवाब दिया जा सके। संतों के जाने के लिए सौ कारें और 3 बसें बुक की गई हैं। अन्य लोग ट्रेन से 14 मई को वहां पहुंचेंगे।

‘जन सेना’ की ओर से बताया गया है कि कानपुर में लोगों को पत्थर मारने की ट्रेनिंग भी दी गई। इसमें युवाओं के साथ-साथ बड़ी संख्या में महिला और पुरुष भी शामिल हुए।


Advertisement

इस टीम का एक ट्रेनिंग वीडियो भी सामने आया है, जिसमें कई लोग पुतलों पर पत्थर फेंकते नजर आ रहे हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement