पृथ्वी शॉ के लिए मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने पहले ही कर दी थी ये भविष्यवाणी

Updated on 4 Oct, 2018 at 7:49 pm

Advertisement

साल 2013 में सचिन तेंदुलकर ने वेस्टइंडीज के खिलाफ ही अपनी आखिरी पारी खेली थी, इसके ठीक पांच साल बाद पृथ्वी शॉ ने वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना डेब्यू किया। पृथ्वी ने वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने पहले ही टेस्ट में ऐसा कारनामा कर दिखाया जिससे हर भारतीय की छाती चौड़ी हो गई। उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ शतक जड़कर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट का आगाज़ किया।

इसके साथ ही पृथ्वी शॉ की तुलना क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर के साथ होने लगी है। पहली बार ही जब पृथ्वी क्रिकेट के मैदान पर उतरे तो फैंस को उनमें सचिन तेंदुलकर की झलक मिलने लगी। उन्हें देख लोग कहने लगे थे कि उनका खेलने का तरीका बिलकुल मास्टर ब्लास्टर जैसा ही है।

 

 

महज 18 साल की उम्र में पृथ्वी टीम इंडिया के लिए डेब्यू कर रहे हैं। यह उनके साथ-साथ भारत के लिए भी एक बड़ी उपलब्धि है। घरेलू स्तर पर उनके शानदार प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें टीम इंडिया में खेलने का मौका मिला।

भारत के करोड़ों क्रिकेटर्स की तरह पृथ्वी भी सचिन को अपना आदर्श मानते हैं। कई साल पहले सचिन के एक मित्र ने उन्हें पृथ्वी से मिलवाया था। सचिन इस बच्चे के खेल से काफ़ी प्रभावित हुए थे और साथ ही उन्होंने पृथ्वी को कुछ टिप्स भी दिए थे।

 

 

सचिन ने इस बच्चे से पहली बार मुलाकात की, तभी उन्होंने इसकी काबलीयत का अंदाजा लगा लिया था। सचिन ने अपने दोस्त से कहा कि यह लड़का एक दिन जरूर टीम इंडिया के लिए खेलेगा। पृथ्वी शॉ ने मैदान पर उतरते ही रिकॉर्ड्स की झड़ी लगा दी। उन्होंने एक ही मैच में 3 रिकॉर्ड बना डाले।

 

इस खिलाड़ी के खेल को देखकर बहुत से दिग्गज क्रिकेटर्स ने पृथ्वी शॉ के खेल की काफी तारीफ़ की है।


Advertisement

 

 

 

 

 

अगर सिर्फ भारतीय खिलाड़ियों की बात की जाए तो पृथ्वी शॉ तीसरे पायदान पर खड़ें हैं। वह पहला अर्धशतक जड़ने वाले तीसरे सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बन चुके हैं। वहीं मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर नंबर वन पर बने हुए हैं। मालूम हो कि 1989 में सचिन ने पाकिस्तान के खिलाफ फैसलाबाद में पहला अर्धशतक जड़ा था।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement