अपने डेब्यू मैच में आखिर क्यों रोने लगे थे सचिन तेंदुलकर?

Updated on 15 Nov, 2017 at 5:41 pm

Advertisement

पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट की दुनिया कई रिकॉर्ड तोड़े और कई नए प्रतिमान स्थापित किए। यही वजह है कि सचिन आज नई पीढ़ी के लिए आदर्श बनकर खड़े हैं। सचिन ने अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच 28 साल पहले अाज ही के दिन पाकिस्तान के खिलाफ खेला था।

हालांकि, बहुत कम लोग जानते हैं कि सचिन इस मैच में रोने लगे थे। जी हां, आज सचिन ने खुद इस बात का खुलासा किया है।

सचिन तेन्दुलकर जब अपना पहला मैच खेल रहे थे, तब उनकी उम्र महज 16 साल थी। उन्होंने अपनी पहली पारी में 15 रन बनाए थे।

फेसबुक लाइव के जरिए सचिन ने उन दिनों की याद ताजा की। वह कहते हैंः

“जब मैं अपनी पहली पारी खेलकर ड्रेसिंग रूम में पहुंचा तो मुझे लगा कि गलत जगह पर गलत समय आ गया। बहुत मुश्किल था। मैं बाथरूम में गया और रोने लगा। फिर वहां जो सीनियर प्लेयर्स मौजूद थे, उन्होंने मुझे समझाया और प्रोत्साहित किया। उन्होंने बताया कि मुझे क्या करना चाहिए। इससे मुझे अगले मैच में विश्वास मिला।”

कठिन था पाकिस्तानी गेन्दबाजों का सामना


Advertisement

सचिन ने कहा कि पाकिस्तान जाने से पहले उन्हें नहीं पता था कि विरोधी टीम की गेन्दबाजी का आक्रमण कैसा है। वहां जब उन्होंने कुछ ओवर खेला तब जाकर पता चला कि यह कैसा अटैक था। उस वक्त इमरान खान, वसीम अकरम, वकार यूनिस जैसे तगड़े गेंदबाज थे। उनकी बॉल को फेस करना कठिन काम था।

फेसबुक लाइव के जरिए सचिन ने युवाओं को संदेश दिया कि वे शॉर्टकट पर विश्वास न करें, बल्कि उन्हें हमेशा अपने सपनों का पीछा करना चाहिए।

सचिन कहते हैंः

“आज की युवा पीढ़ी के लिए मेरा मैसेज है कि अपने सपने का पीछा करो। मैं जब दस साल का था, तो मैंने टीम इंडिया के लिए खेलने का सपना देखा था। हमेशा से चैलेंज रहेगा, करियर के अंतिम दिन तक चैलेंज था। देश का प्रतिनिधित्व करने से बड़ा कोई सम्मान नहीं। मुश्किल टारगेट सेट करें अपने लिए। जब वो आप पाएंगे तो पूरा देश आपको चीयर्स करेगी।”

सचिन का फेसबुक लाइव आप यहां देख सकते हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement