अब रूस खरीदेगा भारत से दुनिया की सबसे बेहतरीन मिसाइल

author image
Updated on 9 Sep, 2016 at 2:59 pm

Advertisement

अपनी रक्षा प्रणाली को और मजबूत करने की दिशा में रूस भारत से ब्रह्मोस क्रूज मिसाइल खरीदने का इच्छुक है। रूस इन्हें अपने सुखोई एसयू-30 एसएम फाइटर प्लेन पर तैनात करना चाहता है।

एक रुसी समाचार एजेंसी के मुताबिक, भारत द्वारा ब्रह्मोस मिसाइल के साथ लड़ाकू विमान एसयू-30 एमकेआई के परीक्षण के बाद रूसी सेना 2017 में इसकी खरीद की बात शुरू कर सकती है। बता दें कि भारत ने रूस की मदद से ही इन मिसाइलों का निर्माण किया है।

ब्रह्मोस मिसाइल भारत के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) एवं रूस के फेडरल स्टेट यूनिटरी एंटरप्राइज एनपीओ माशिनोस्ट्रोयेनिया (NPOM) की संयुक्त परियोजना है।


Advertisement

संयुक्त रूप से मिसाइल बनाने को लेकर भारत व रूस के बीच 12 फरवरी 1998 को समझौता हुआ था। इसके बाद भारत में ब्रह्मोस एयरोस्पेस की स्थापना हुई और मिसाइल का निर्माण शुरू हुआ।

इसी साल गर्मियों में भारत ने ब्रह्मोस मिसाइल के डेमोन्सट्रेटर के साथ लड़ाकू विमान का परीक्षण किया था।

इस साल के अंत तक ब्रह्मोस का फाइटर जेट के साथ परीक्षण की उम्मीद है।

अभी भारतीय सेना के पास इस मिसाइल को समुद्र और जमीन से लॉन्च करने का वर्जन है। फाइटर जेट से ब्रह्मोस मिसाइल लॉन्च करने की यह पहली प्रणाली होगी।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement