सिर्फ एक बम कर सकता है अमेरिकी नेवी का सफाया, चीन भी युद्ध के लिए तैयार

author image
Updated on 20 Apr, 2017 at 3:19 pm

Advertisement

रूस का मानना है कि उसका सिर्फ एक बम पूरे अमेरिकी नेवी का सफाया कर सकता है। यह दावा रूसी मीडिया ने किया है। बताया गया है कि इस बम का नाम ‘इलेक्ट्रॉनिक बम’ है। वहीं, दूसरी तरफ चीन भी युद्ध के लिए तैयार दिख रहा है।

द सन ने न्यूजरीडर की रिपोर्ट के हवाले से लिखा हैः

‘आज हमारे रसियन इलेक्ट्रॉनिक वॉरफेयर के जवान किसी भी हथियार की पहचान कर सकते हैं और युद्धपोत, रेडार या सैटेलाइट जैसे किसी भी तरह के टारगेट को खत्म कर सकते हैं।’


Advertisement

इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि रूस अपने सैन्य बेस के ऊपर इलेक्ट्रॉनिक जैमर लगाने में सक्षम है।

साथ ही कहा गया है कि कई साल पहले ब्लैक सी में इकलौता रूसी लड़ाकू विमान अमेरिकी विध्वंसक यूएसएस डॉनल्ड कूक के ऊपर कई बार उड़ा था और उसके सिस्टम को बेकार करके उसे असहाय कर दिया था।



रिपोर्ट के मुताबिक, नई तकनीक मिसाइलों को जाम कर सकती है।

यह खबर ऐसे वक्त में आई है जब अमेरिका का विध्वंसक यूएसएस कार्ल विंसन कोरियाई प्रायद्वीप के लिए रवाना हुआ है। यह न्यूक्लियर रिएक्टर से चलता है और इस पर करीब 100 एयरक्राफ्ट, एक क्रूजर और एक परमाणु पनडुब्बी तैनात हैं।

यूएसएस कार्ल विंसन के अलावा अमेरिका अगले हफ्ते जापान सागर में यूएसएस रोनाल्ड रीगन और यूएसएस निमित्ज की तैनाती की तैयारी कर रहा है।

इस बीच, कोरियाई प्रायद्वीप पर तनातनी के बीच चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने चीनी सेना पीएलए की नई टुकड़ी 84 लार्ज मिलिटरी यूनिट के जवानों से कहा है कि वे हर तरह की लड़ाई के लिये तैयार रहें।

राष्ट्रपति ने सलाह दी कि वह इलेक्ट्रॉनिक, सूचना तथा स्पेस युद्ध जैसे ‘नए प्रकार’ की लड़ाई की क्षमता को भी विकसित करे। ऐसी भी अटकलें हैं कि क्षेत्र में बढ़ते तनाव के मद्देनजर चीन के साथ मिलकर रूस ने कोरियाई प्रायद्वीप में एक जासूसी जहाज भेजा है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement