बिहार टॉपर रूबी राय पहुंची टेस्ट देने, लटकी गिरफ्तारी की तलवार

author image
Updated on 25 Jun, 2016 at 5:23 pm

Advertisement

बिहार में 12वीं बोर्ड की आर्ट्स टॉपर रूबी राय शनिवार को इन्टरव्यू देने बिहार बोर्ड के ऑफिस पहुंची। दरअसल, बोर्ड ने रूबी को इन्टरव्यू पर उपस्थित होने के लिए तीसरा मौका दिया था।

पहले उसे सभी टॉपरों के साथ 3 जून को बुलाया गया था, लेकिन वह नहीं पहुंची थी। उसे एक और मौका देते हुए 11 जून को बुलाया गया। इस बार भी उसने इन्कार कर दिया। बोर्ड अध्यक्ष ने उसे एक और मौका देते हुए 25 जून को बुलाया था।

अपने अभिभावक के साथ पहुंची रूबी ने मीडिया किसी सवाल का जबाव नहीं दिया।

समाचार लिखे जाने तक एक सात-सदस्यीय टीम रूबी का इन्टरव्यू ले रही है। इस टीम में विनोद कुमार मंगलम, राजीव रंंजन, डॉ. अरविंद वर्मा, डॉ. शिवेश रंजन, गोविंद झा, वाल्मिीकि प्रसाद और राजा राम हैं। इनमें गोविंद झा, वाल्मिीकि प्रसाद और राजा राम बोर्ड की कमेटी के सदस्य हैं।

गौरतलब है कि पिछले 3 जून को आयोजित इन्टरव्यू में रूबी उपस्थित नहीं हुई थी। उसके परिजनों ने कहा था कि वह पूरे मामले की वजह से डिप्रेशन में चली गई है। इसलिए इन्टरव्यू देने नहीं जा सकती।

बिहार में 12वीं बोर्ड के रिजल्ट के बाद रूबी राय चर्चा में रही थी। एक टीवी चैनल के संवाददाता से बातचीत करते हुए उसने पॉलिटिकल साइंस की जगह प्रोडिकल साइंस बोल दिया था। यही नहीं, उसने कहा कि इस विषय में खाना बनाने के बारे में बताया जाता है।

इस घटना के बाद ही बिहार में टॉपर घोटाला की बात सामने आई।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement