जानलेवा हमले के 48 दिन बाद RSS नेता गगनेजा की मौत, पंजाब में हाई अलर्ट

author image
Updated on 22 Sep, 2016 at 11:35 am

Advertisement

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ नेता रिटायर्ड ब्रिगेडियर जगदीश गगनेजा का गुरुवार सुबह निधन हो गया। पंजाब में सह-संघ संचालक गगनेजा पर पिछले 6 अगस्त को जानलेवा हमला किया गया था। उन्हें नजदीक से तीन गोलियां मारी गईं थीं। वह पिछले 48 दिनों से अस्पताल में भर्ती थे।

जगदीश गगनेजा की मौत के बाद पूरे पंजाब में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। उनका अंतिम संस्कार जालंधर कैंट में दोपहर बाद किया जाएगा।


Advertisement

गगनेजा पर हमले के मामले की जांच सीबीआई कर रही है।

6 अगस्त की रात आठ बजे के करीब जगदीश गगनेजा अपनी पत्नी सुदेश के साथ बेटी के लिए फल खरीदने बाजार आए थे। उन्होंने यहां मखदूमपुरा में कार पार्क की थी और बाजार से खरीदारी कर वापस कार की तरफ बढ़ रहे थे। तभी उन पर फायरिंग की गई। नकाबपोश हमलावर 20 से 25 साल की उम्र के थे। हमलावरों ने सिर पर काले रंग का कपड़ा पगड़ी की तरह बांधा हुआ था। हमले में बुरी तरह घायल गगनेजा को पटेल अस्पताल में भर्ती कराया गया थआ।

माना जा रहा है कि गगनेजा की हत्या की कोशिश में खालिस्तान स्लिपर सेल का हाथ हो सकता है। इस वारदात की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया था। बाद में इस मामले की जांच सीबीआई ने शुरू की थी।

बताया गया है कि जगदीश गगनेजा को इससे पहले किसी तरह की धमकी नहीं दी गई थी। यही वजह है कि उन्हें किसी तरह की सुरक्षा नहीं थी। सेना से रिटायर होने के बाद गगनेजा ने RSS ज्वाइन किया था।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement