Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

सभी धर्मों के लोग आते हैं इस मस्जिद में, मुस्लिम भी पढ़ते हैं गायत्री मंत्र

Updated on 12 July, 2016 at 11:58 am By

Advertisement

‘हम सब एक है’, इसी सोच को अमल में लाते हुए, दिल्ली गेट के पास मक्की मस्जिद में जहां एक तरफ रोजा इफ्तार में कुरान शरीफ की तिलावत होती है, वहीं दूसरी ओर गायत्री मंत्र के जाप से वातावरण रमणीय हो जाता है।

देश में अमन और मोहब्बत का संदेश पहुंचाने के मकसद से हर धर्म के लोग अपने ईश्वर को याद कर रोजा-इफ्तार करते हैं।

दिल्ली गेट के पास मक्की मस्जिद में सर्व-धर्म रोजा इफ्तार का आयोजन हो रहा है। इस ख़ास आयोजन में मौलाना शिरकत तो करते ही हैं, साथ ही महामंडलेश्वर और सिख और ईसाईयों के धर्मगुरु भी शामिल होते हैं।

ख़ास बात यह ही कि धर्म की दीवार को दरकिनार कर मुस्लिम भी गायत्री मंत्र का उच्चारण करते हैं। खुद इस कार्यक्रम के आयोजक मुहम्मद बिलाल शबगा ने गायत्री मंत्र का जाप किया।

बिलाल अपने इस ख़ास कार्यक्रम के बारे में बतातेहैं:



“सर्व धर्म रोजा-इफ्तार का आयोजन ‘हमारा नारा-भाई चारा मिशन’ के तहत पिछले 38 साल से हो रहा है, जिसमें अंजुमन अमन दोस्त इंसान दोस्त, राष्ट्रशक्ति फाउंडेशन आदि स्वयं सेवी संस्थाओं का सहयोग रहता है।”

इस सर्व-धर्म रोजा इफ्तार का मकसद देश में अमन, चैन और मोहब्बत का पैगाम देना है।


Advertisement

साभार: नवभारत टाइम्स

Advertisement

नई कहानियां

जानिए कौन है ये ‘स्पेशल’ शख्स, जिसका बर्थडे मना रहे हैं कप्तान विराट कोहली

जानिए कौन है ये ‘स्पेशल’ शख्स, जिसका बर्थडे मना रहे हैं कप्तान विराट कोहली


देश का पहला रोबोट पुलिस आ गया है, घूसखोरी की बात की तो नाप दिए जाओगे

देश का पहला रोबोट पुलिस आ गया है, घूसखोरी की बात की तो नाप दिए जाओगे


आज के युवाओं को अपनी मातृभाषा पर गर्व होना चाहिए, क्योंकि इससे ही वजूद है

आज के युवाओं को अपनी मातृभाषा पर गर्व होना चाहिए, क्योंकि इससे ही वजूद है


‘गली बॉय’ में आलिया की एक्टिंग को लेकर कैटरीना ने किया पोस्ट, रिप्लाई में मिला ये जवाब

‘गली बॉय’ में आलिया की एक्टिंग को लेकर कैटरीना ने किया पोस्ट, रिप्लाई में मिला ये जवाब


फ़िल्म ‘केसरी’ का दमदार ट्रेलर रिलीज़, जब 21 सिख सैनिक पड़े 10 हज़ार अफ़गानों पर भारी

फ़िल्म ‘केसरी’ का दमदार ट्रेलर रिलीज़, जब 21 सिख सैनिक पड़े 10 हज़ार अफ़गानों पर भारी


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

और पढ़ें Culture

नेट पर पॉप्युलर