रोहित वेमुला के परिवार ने लिया बड़ा फैसला, हिन्दू धर्म छोड़ अपनाएंगे बौद्ध धर्म

author image
Updated on 11 Jul, 2016 at 1:29 am

Advertisement

डॉ. बाबासाहेब आम्बेडकर की 125वीं जयंती के अवसर पर हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी के रिसर्च स्कॉलर रोहित वेमुला की मां और छोटा भाई बौद्ध धर्म अपनाने जा रहे हैं।

rohith Vemula Family

रोहित वेमुला का भाई राजा और मां राधिका catchnews

इसके लिए एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन बौद्ध सोसायटी ऑफ इंडिया की ओर से किया जा रहा है। इसमें रोहित की मां और भाई मुंबई में बौद्ध धर्म की दीक्षा लेंगे। दीक्षा समारोह दादर के आम्बेडकर भवन में होगा।

इस कार्यक्रम में ‘जस्टिस फॉर वेमुला’ आंदोलन से जुड़े लोग भी मौजूद होंगे। यह जानकारी खुद डॉ. आम्बेडकर के पोते प्रकाश आम्बेडकर ने साझा की। इस कार्यक्रम के अवसर पर डॉक्टर भीमराव आम्बेडकर के तीन पोते भी मौजूद रहेंगे।

बाबा साहेब आम्बेडकर के पोते प्रकाश आम्बेडकर ने रोहित वेमुला के परिवार के धर्म परिवर्तन को लेकर एक अंग्रेजी अखबार से बात करते हुए कहाः

“इस कार्यक्रम को रोहित की मां के कहने पर रखा गया है। रोहित की मां ने मार्च में मुझसे ये विचार साझा किया था। उन्होंने कहा था कि बाबासाहेब की जयंती पर वह आधिकारिक रूप से बौद्ध धर्म स्वीकार कर लेंगी।”


Advertisement

वहीं, रोहित वेमुला के भाई का कहना है कि रोहित ने भले ही अपना धर्म परिवर्तित न किया हो लेकिन बौद्ध धर्म के प्रति उसका लगाव पहले से ही था।

बकायदा रोहित के परिवार ने धर्म परिवर्तन के मसले पर एक बयान जारी कर कहाः

“वैसे तो हम अब तक हिंदू धर्म को मानते आए हैं, लेकिन हिंदुओं की ऊंची जातियों ने हमें परेशान किया है। इस भेदभाव ने हमें दुख दिया है। ये भी गलत है कि सरकार ने यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर को रोहित की मौत का जिम्मेदार नहीं माना।”

गौतलब है कि रोहित वेमुला ने इसी साल 17 जनवरी को अपने हॉस्टल रूम में फांसी लगा आत्महत्या कर ली थी। जिसके बाद देशभर में कई प्रदर्शन हुए।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement