100 से ज्यादा रोहिंग्या युवक लापता, आतंकी संगठनों में शामिल होने का शक

Updated on 14 Oct, 2017 at 12:35 pm

Advertisement

म्यांमार में बिगड़े हालातों के बाद रोहिंग्या मुसलमान भारत के कई हिस्सों में फैल गए हैं। कहा जा रहा है कि उत्तर प्रदेश में भी इनकी खासी संख्या है। मथुरा में ही लगभग 150 परिवार रह रहे हैं। अब मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है, टाउनशिप के पास बनी बस्ती से लगभग 25 रोहिंग्या नौजवान लापता हैं, जो खुफिया एजेंसियों के लिए सिरदर्द बन गए हैं। पूरे प्रदेश से लगभग 100 रोहिंग्या नौजवान के गायब होने की खबर है।

ये गायब नौजवान कहां गए हैं ये रोहिंग्या बस्तियों में भी किसी को मालूम नहीं है।

मथुरा में दो साल पहले रोहिंग्या मुसलमानों के कुछ परिवार टाउनशिप के पास आकर बस गए थे। इन लोगों ने सड़क किनारे झोपड़ी बनाकर पूरी बस्ती ही बसा ली थी। अब युवकों का गायब होना चिंता का सबब है।

ये रोहिंग्या मुसलमान बस्ती बसाने के साथ-साथ सामान्य जीवन जीने की और कदम बढ़ा चुके थे। मसलन उन लोगों में से कुछ ने ई-रिक्शा तक ले ली थी। पिछले साल जब अमेरिका के राष्ट्रपति का भारत दौरा हुआ था, तो उन लोगों की जांच की गई, लेकिन कुछ युवक गायब पाए गए। इनकी संख्या करीब 25 बताई गई थी।

thehansindia.com


Advertisement

मथुरा में सराय आजमाबाद, टाउनशिप, बरारी, जमुनापार और औरंगाबाद में बनी रोहिंग्या बस्तियों में जब पूछताछ की गई, फिर भी कुछ जानकारी न मिली।



एसएसपी स्वप्निल ममगाई के मुताबिकः

“रोहिंग्याबस्तियों में जाकर सत्यापन का काम कराया जा रहा है। लोगों के बारे में डिटेल जुटाई जा रही है। स्थानीय थाना पुलिस को भी कहा गया है कि वह निरंतर उनकी निगरानी करते रहें और गतिविधियों पर नजर रखें।”

खुफिया एजेंसी के अनुसार, रोहिंग्या बस्तियों में महिला, बुजुर्ग और बच्चे तो काफी संख्या में मिलते हैं लेकिन नौजवान नदारद हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement