रोहिंग्या मुसलमान धड़ल्ले से आधार कार्ड बनवा रहे हैं, यह रहा सबूत

Updated on 16 Oct, 2017 at 7:23 pm

Advertisement

हैदराबाद पुलिस ने म्यांमार से आए अवैध आधार कार्ड बनवाने वाले एक रोहिंग्या युवक को गिरफ्तार कर लिया है। 19 वर्षीय रोहिंग्या युवक के खिलाफ भारत में रहने के लिए फर्जी तरीके से आधार कार्ड बनवाने के लिए मामला दर्ज कर लिया गया है। ध्यान देनेवाली बात ये है कि कार्ड बनवाने में एक भारतीय नियोक्ता ने ही उसकी मदद की थी।

रोहिंग्या शरणार्थियों का मामला ठंढा होता, उससे पहले ही देश के भीतर घुस चुके रोहिंग्याओं के समाचार आने शुरू हो गए हैं। पहले उत्तर प्रदेश से तो अब हैदराबाद से आने वाली इन खबरों ने एजेंसियों को चिंता में डाल दिया है। पुलिस अधिकारी का कहना है कि रोहिंग्या शख्स को आधार के लिए एक भारतीय नियोक्ता खुद को उसका पिता बताया था।

कार्ड बनाने में मदद पहुंचाने वाले नियोक्ता को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पश्चिम बंगाल का रहनेवाला रोहिंग्या व्यक्ति मोहम्मद अजुमुद्दीन उर्फ मौला अजमुद्दीन और उसका नियोक्ता रियाजुद्दीन मौला (36) को पुलिस ने बालापुर क्षेत्र से दबोच लिया है। उनके खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

पुलिस का कहना हैः


Advertisement

“ये लोग कपड़ा व्यवसाय करते हैं और कोलकाता से हैदराबाद आए थे। पुलिस मामले की जांच कर रही है। संदेह है कि कहीं कोई रैकेट रोहिंग्या लोगों को भारत की नागरिकता से संबंधी दस्तावेज बनाने में मदद कर रहा है।”

ज्ञात हो कि पिछले महीने भी रचकोंडा पुलिस ने 20 साल के एक रोहिंग्या युवक को गिरफ्तार किया था, जिसने दुबई जाने के लिए पासपोर्ट बनाने जा रहा था। उसके पास से भी फर्जी भारतीय दस्तावेज बरामद किए गए थे। रचकोंडा पुलिस कमिश्नर के अनुसार, अजुमुद्दीन म्यांमार निवासी है। उसका परिवार बांग्लादेश के कॉक्स बाजार में रहता है। वह बांग्लादेश से होते हुए भारत के पश्चिम बंगाल में दाखिल हुआ था।

पुलिस का ये भी कहना है कि रियाजुद्दीन ने उसे लालच देकर कोलकाता बुलाया और फिर उसे पनाह दिया। उसके बाद उसे फर्जी कागजात बनाने में मदद किया।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement