बड़ी होकर पायलट बनना चाहती है रितु, करती है फुटपाथ पर पढ़ाई

author image
Updated on 10 Jan, 2017 at 9:24 pm

Advertisement

दिल्ली के कमला नगर का इलाका दिल्ली विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले छात्रों के लिए मशहूर है। देश के कोने-कोने से छात्र यहां पर पढ़ने आते हैं। यहां के शोरूम की ऊंची इमारतें फुटपाथ पर छोटी-मोटी दुकान लगाने वाले बच्चों का मजाक उड़ाती सी नजर आती हैं।

1
अक्सर इन फुटपाथ के बच्चों का जीवन फुटपाथ पर ही खत्म हो जाता है, लेकिन 14 साल की रितु को यह मंजूर नहीं। उसने फुटपाथ से उठकर ऊपर आसमान में उड़ने की ठान ली है।

2
रितु कक्षा 9 की छात्रा है। वह 6 बहन और 2 भाई हैं। पिता जी रिक्शा चलाते हैं, लेकिन परिवार बड़ा होने के कारण खर्चा पूरा नहीं हो पाता है। परिवार के खर्चे में मदद के लिए रितु को फुटपाथ पर वेटिंग मशीन (वजन तौलने की मशीन) लगानी पड़ती है। लोग आते हैं, वजन तौलते हैं और चले जाते हैं लेकिन रितु आम बच्चों की तरह ग्राहकों का इंतजार नहीं करती, बल्कि कॉपी-किताब पर नजर गड़ाए पढ़ती रहती है।

5

आस-पास के रेहड़ी लगाने वालों से पूछने पर पता चला कि रितु को पढ़ने का बहुत शौक है। वह हमेशा किताब खोले बैठी रहती है। रितु हमेशा अपनी कक्षा में प्रथम आती है।

4

हंसमुख रितु का सपना है कि वह बड़ी होकर पायलट बने। अगर आप कभी कमला नगर जाएं, तो ग्लोबल देशी शोरूम के नीचे वजन तौलने की मशीन के साथ बैठी रितू से जरूर वजन कराएं।


Advertisement

3

ये है रितु की पूरी कहानी।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement