फर्राटेदार अंग्रेजी बोलकर भीख मांगती हैं ये महिलाएं, एक के पास है अमेरिका का ग्रीन कार्ड

Updated on 22 Nov, 2017 at 3:00 pm

Advertisement

यह दुनिया अजीब लोगों से भरी-पड़ी है और भारत है ही विविधताओं से भरा। ग्रेजुएट लोगों के रिक्शा चलाने की खबर तो आती रही है लेकिन अमूमन पढ़े-लिखे लोग भीख मांगते नहीं पाए जाते। अनपढ़, गरीब और तंग व्यक्ति ही अंत में भीख मांगने की नौबत पर पहुंच जाता है। हालांकि, तेलंगाना पुलिस के अधिकारी उस वक्त हैरान रह गए जब वह भिखारियों को खदेड़ने पहुंचे तो उन्हें फर्रेटादार अंग्रेजी में बात करते पाता।

दराबाद में भीख मांगने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। दरअसल, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की बेटी इवांका ट्रम्प भारत यात्रा पर हैं। इस दौरान उनका हैदराबाद जाने का भी कार्यक्रम है। यही वजह है कि इवांका जब तक हैदराबाद में रहेंगी, तब तक यहां भिखारी भीख नहीं मांग सकेंगे। भिखारियों को खदेड़ने का काम पिछले 20 अक्टूबर से शुरू किया गया है। पुलिस के अभियान में तरह-तरह के भिखारी देखने को मिल रहे हैं।

redmalin.com


Advertisement

पुलिस ने भीख मांगते कुछ महिलाओं को पकड़ा है, जिन्होंने योग्यता रहते हुए भी भीख मांगने का रास्ता चुना है। आपको बता दें कि ये महिलाएं लंदन और अमेरिका रिटर्न हैं, जो अंग्रेजी बोलकर भीख मांगती हैं। इनको देखकर पुलिस हैरान है। भिखारियों को लेकर लेकर ऐसे खुलासे कम ही होते हैं।

पुलिस के अनुसारः



“पूछताछ में महिलाओं ने चौंकाने वाली बात कही। दो महिला फरजोना और राबिया बसेरा विदेशों से रहकर आई हैं और फर्राटेदार इंग्लिश बोलती हैं। ऐसे में भीख मांगना अचंभित करता है।”

50 साल की फरजोना बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन की पढाई कर चुकी है और लंदन में अकाउंटेंट रह चुकी हैं। उनका बेटा अमेरिका में आर्किटेक्ट की नौकरी कर रहा है। वहीं, राबिया बसेरा के पास अमेरिका का ग्रीन कार्ड है और उसके पास बहुत ज्यादा संपत्ति भी है। संप्ति विवाद की वजह से वह डिस्टर्ब चल रही हैं।

हैरानी की बात ये हैं कि इन महिलाओं को इनके रिश्तेदारों ने ही सलाह दी कि वे दरगाह पर जाकर भीख मांगें, जिससे उनकी परेशानियां कम हो जाएंगी और उन्हें शांति मिलेगी। पुलिस ने इस अभियान में पकड़े गए महिला और पुरुष भिखारियों को चेरलापल्ली जेल के आनंद आश्रम में शिफ्ट किया है। बताते चलें कि पुलिस ने अबतक 1 हजार भिखारियों को पकड़ा है, जिसमें 133 महिला भिखारी हैं।

इवांका ट्रम्प हैदराबाद में 28 से 30 नवंबर को होने वाली वैश्विक उद्यमिता शिखर सम्मेलन (जीईएस) में शामिल होंगी। इस सम्मेलन का थीम ‘सर्वप्रथम महिलाएं, सभी के लिए समृद्धि’ है। इसका मकसद महिला उद्यमियों की सहायता करना और वैश्विक आर्थिक वृद्धि को मजबूती देना है। इस मौके पर इवांका ट्रंप दुनियाभर के 1000 उद्यमियों को संबोधित करेंगी।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement